NDTV Khabar

पढ़िए आखिर किसने दी राहुल गांधी को आयुष्मान योजना का लाभ लेने की सलाह

उन्होंने राहुल की मानसिक स्थिति ठीक ना होने वाले कटाक्ष के अंदाज में कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष को आयुष्मान योजना का लाभ जरूर लेना चाहिए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पढ़िए आखिर किसने दी राहुल गांधी को आयुष्मान योजना का लाभ लेने की सलाह

राहुल गांधी को किसने दी सलाह

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार के वक्फ राज्यमंत्री मोहसिन रजा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राफेल समझौते के मामले में गंभीर आरोप लगाने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को आयुष्मान स्वास्थ्य योजना का लाभ लेने की सलाह दी है. रजा ने आज कलेक्टरेट सभागार में आयुष्मान योजना की शुरुआत के मौके पर आयोजित समारोह में कहा कि अमेठी से सांसद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ की गई टिप्पणी बहुत ही निंदनीय है. उन्होंने राहुल की मानसिक स्थिति ठीक ना होने वाले कटाक्ष के अंदाज में कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष को आयुष्मान योजना का लाभ जरूर लेना चाहिए.

यह भी पढ़ें: योगी आदित्यनाथ का हमला : राहुल गांधी 'बेचारे' हैं, उन्हें तथ्यों की जानकारी नहीं है

रजा ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि गैर भाजपा सरकारों ने देश को बिना योजना के चलाया और देश का खजाना लूटने का काम किया. परिणामस्वरुप देश में गरीबी बढती चली गयी. उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने इस आयुष्मान महायोजना के जरिये लोगों को गरीबी से निकालने की पूरी कोशिश की है. गौरतलब है कि पीएम नेरेंद्र मोदी ने रविवार को रांची से आयुष्मान योजना का शुभारंभ किया है. इस महत्वाकांक्षी योजना का लक्ष्य प्रत्येक परिवार को सालाना पांच लाख रुपये से 10 करोड़ रुपये तक की कवरेज प्रदान करना है.

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें: लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भाषण के दौरान बत्ती हुई गुल, फिर....

इससे 10.74 करोड़ गरीब परिवार लाभान्वित होंगे. इन परिवारों के लोग द्वितीयक और तृतीयक श्रेणी के तहत पैनल के अस्पतालों में जरूरत के हिसाब से भर्ती हो सकते हैं. वैसे इस योजना का नाम बदलकर प्रधानमंत्री जन आरोग्य अभियान कर दिया गया है. यह योजना लाभार्थियों को नकदी रहित स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराएगी. इससे अस्पताल में भर्ती होने पर आने वाले खर्च में कमी आएगी जो लोगों को और निर्धन बना देता है. इससे भयंकर स्वास्थ्य समस्याओं के दौरान उत्पन्न वित्तीय जोखिम कम होगा. पात्र लोग सरकारी और सूचीबद्ध निजी अस्पतालों में सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं.  (इनपुट भाषा से)  


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement