NDTV Khabar

सतवीर को जहीर बताकर गिरफ्तार किया! गोकशी के आरोप में एक साल से जेल में बंद

यूपी के मुरादाबाद की पुलिस पर आरोप है कि उसने एक हिंदू को मुसलमान बनाकर गोकशी के आरोप में जेल भेज दिया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. सतवीर पेशी पर आया तो वकील को देखकर रोने लगा
  2. सतवीर की असली पहचान साबित करना बन गया चुनौती
  3. बुलंदशहर से मुरादाबाद राजमिस्त्री का काम करने आया था
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद पुलिस पर इल्ज़ाम है कि उसने एक हिंदू को मुसलमान बनाकर गोकशी के आरोप में जेल भेज दिया. जेल भेजे गए शख्स का नाम सतवीर है जबकि उसे जहीर के नाम से जेल भेजा गया. वह एक साल से जेल में है. पेशी पर आने पर सतवीर एक वकील को देखकर रोने लगा और आपबीती सुनाई. अब वकील ने सतवीर को सतवीर साबित करने के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया है.

मुरादाबाद के सिविल कोर्ट में सतवीर पेशी पर आया तो रोने लगा. पूछने पर बताया कि वह राजमिस्त्री है. बुलंदशहर से कम करने मुरादाबाद आया था. पुलिस ने उसे गौ हत्यारा जहीर बताकर जेल भेज दिया है.

सतवीर को जहीर के नाम से जेल में बंद किया गया है. उससे हुई बातचीत-


तुम्हारा नाम क्या है? सतवीर या ज़हीर?
-सतवीर.
कहां के रहने वाले हो?
-बुलंदशहर के.
लेकिन कागजों में तो तुम्हारा नाम जहीर है, क्या वजह है? क्या हो गया है?
-वो बना दिया है.
किसने बनाया?
-दारोगा ने.
क्या नाम है दारोगा जी का?
-उनका नाम नहीं मालूम.

बुलंदशहर में सतवीर की मां एक साल से उसके लिए परेशान थी. उसके ज़िंदा होने की खबर पाकर उसकी जान में जान आई. उसे लगता है कि कहीं ऐसा न हो कि किसी गोकश जहीर को बचाने के लिए पुलिस ने उसके बेटे को जेल भेज दिया हो. सतवीर की मां अनारो ने कहा कि वह मुरादाबाद की जेल में बंद है. गाय काट का नाम लगा दिया है, जहीर बना दिया है. और जहीर नाम के मुसलमान के नाम से जेल में फंसा दिया है.

बुलंदशहर हिंसा: कोर्ट ने 4 बेगुनाहों को किया रिहा, पीड़ितों ने बताया, कैसे गिरफ्तारी ने पूरे परिवार को कर दिया बर्बाद

सतवीर के गांव वाले उसे फंसाए जाने से बेहद नाराज़ हैं. गांव के प्रधान देवेन्द्र सिंह ने कहा कि हमारी मांग है कि उसको बाइज्जत बरी कराया जाए और जिन लोगों ने उसे फंसाया है उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई हो. उन्हें जेल भेजा जाए.

मुरादाबाद में 9 मई 2018 को पुलिस ने गुमनाम लोगों के खिलाफ गोकशी और तस्करी का केस दर्ज किया था. उसमें पकड़े गए आरोपी रियासत ने बताया कि उसके साथी का नाम जहीर है. पुलिस ने इसमें सतवीर को जेल भेज दिया. अब उसके घर वाले सतवीर की जमानत कराना चाहते हैं. उसके वकील कहते हैं कि इसमें मुश्किल है.

बुलंदशहर गोकशी मामला: पहले बताया 'बेगुनाह' तो पुलिस नहीं मानी, अब 17 दिन बाद खुद पुलिस बोली- ये निर्दोष है

सतवीर के वकील चौधरी कुलदीप ने कहा कि जमानत के लिए उन्होंने कहा कि वकील साहब इसकी जमानत करा दो. मैंने कहा कि मैं इसकी ज़मानत नहीं कराऊंगा क्योंकि जमानत कराने के बाद तस्दीक़ करना पड़ता है कि अभियुक्त वही है. इसका वारंट जो बना हुआ है वह जहीर के नाम से है. अब जमानत में इसे जहीर कैसे कहेंगे, जबकि यह जहीर है ही नहीं.

मामला खुलने पर मुरादाबाद पुलिस ने इसकी जांच बिठा दी है. पुलिस को शक है कि कहीं सतवीर ही जहीर बनकर गोकशी तो नहीं करता. मुरादाबाद के एसपी-देहात उदय शंकर सिंह ने कहा कि पुलिस द्वारा इस प्रकरण का संज्ञान लिया गया है. क्षेत्राधिकारी ठाकुरद्वारा के द्वारा इस प्रकरण में पूरी गहनता से छानबीन की जा रही है. इसमें आवश्यक विधिक कार्रवाई की जाएगी.

VIDEO : गोकशी के आरोप में गिरफ्तार चार बेकसूर छोड़े गए

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement