NDTV Khabar

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के 12 छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का केस, ABVP की शिकायत पर कार्रवाई

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रसंघ अध्यक्ष सहित 12 छात्रों पर पुलिस ने देशद्रोह का केस दर्ज किया है. उन पर कथित तौर पर पाक समर्थित नारे लगाने का आरोप है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रसंघ अध्यक्ष सहित 12 छात्रों पर पुलिस ने देशद्रोह का केस दर्ज किया है. पुलिस ने यह कार्रवाई एबीवीपी कार्यकर्ताओं की शिकायत पर की है. पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक एबीवीपी का आरोप है कि छात्रों ने पाक समर्थित नारे लगाए. उधर, इस घटना के बाद छात्रों ने कक्षाओं का बहिष्कार किया. कहा जा रहा है कि महज झड़प और बदसलूकी की घटना पर ही पुलिस ने देशद्रोह जैसा केस लगा दिया. ,मंगलवार को एबीवीपी के प्रदर्शन और एक निजी चैनल के स्टाफ तथा छात्रों के बीच टकराव की घटना के बाद प्रशासन ने अब विश्वविद्यालय परिसर की सुरक्षा बढ़ा दी है. यूनिवर्सिटी की ओर जाने वाले मुख्य रास्ते को आइजी खान क्रासिंग के पास एहतियान बंद कर दिया गया है. प्रशासनिक सूत्रों ने बताया कि सावधानी बरतते हुए शहर में इंटरनेट सेवा ठप कर दी गई है. कैंपस के आसपास आरपीएफ की तैनाती है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि विरोध प्रदर्शनों के बीच एबीवीपी कार्यकर्ता की बाइक को आग लगाने की घटना हुई. हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो सका कि इस घटना का ओवैसी के दौरे से संबंध है या नहीं. दरअसल, मीडिया रिपोर्ट्स में आया था कि विश्वविद्यालय के छात्रसंघ से जुड़े कार्यक्रम में एआइएमआइएम सांसद ओवैसी आने वाले हैं. इसके विरोध में एबीवीपी कार्यकर्ता विश्वविद्यालय के फैज गेट के पास विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. उनकी मांग थी कि ओवैसी को कैंपस में घुसने से रोका जाए. हालांकि ओवैसी कार्यक्रम में नहीं पहुंचे थे.

यह भी पढ़ें- एएमयू में नाटक के पोस्टर में भारत के नक्शे से जम्मू-कश्मीर गायब, मंचन रोका


कैंपस का वीडियो बनाने पर भड़के छात्र
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के मुताबिक मीडिया रिपोर्ट में यह कहा गया था की अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय छात्र संघ की ओर से मंगलवार को आयोजित एक कार्यक्रम में ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल उल मुस्लिमीन के सांसद असदुद्दीन ओवैसी को आमंत्रित किया गया था. इसके विरोध में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कुछ कार्यकर्ताओं ने एएमयू के फैज गेट के पास प्रदर्शन किया. हालांकि ओवैसी कार्यक्रम में नहीं आए, लिहाजा इसे लेकर खड़ा हुआ विवाद खत्म होता नजर आया. मगर इसी बीच कार्यक्रम की कवरेज करने आए एक समाचार चैनल की टीम की कुछ छात्रों से उस वक्त बहस हो गई जब वह परिसर के अंदर के नजारे को फिल्मा रही थी. हालांकि यह दोनों ही घटनाएं एक दूसरे से जुड़ी नहीं थी लेकिन इनकी वजह से एएमयू परिसर में तनाव की स्थिति बनती नजर आई.

एएमयू के एक प्रवक्ता ने बताया कि चैनल की टीम ने विश्वविद्यालय प्रशासन से लाइव कवरेज की इजाजत नहीं ली थी. जब कुछ स्टाफ कर्मियों ने टीम को टोका तो दोनों पक्षों के बीच बहस मुबाहिसा हो गया, जिसमें कुछ छात्र भी शामिल रहे। प्रवक्ता ने बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने वक्त रहते मामले में हस्तक्षेप किया जिसकी वजह से उसका जल्द ही पटाक्षेप हो गया. हालांकि समाचार चैनल की टीम के सदस्यों का आरोप है कि कुछ छात्रों ने उनके साथ मारपीट की और उनका कैमरा तोड़ दिया.

टिप्पणियां

वीडियो- एएमयू में कश्मीरी छात्रों का प्रदर्शन फिलहाल थमा 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement