NDTV Khabar

यूपी : संगीन अपराधों की सजा काट रहे अपराधियों ने जेल से फेसबुक पर अपलोड की सेल्‍फी

इन तस्‍वीरों के वायरल होने के बावजूद सरकार ने इस मामले में किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
यूपी : संगीन अपराधों की सजा काट रहे अपराधियों ने जेल से फेसबुक पर अपलोड की सेल्‍फी
लखनऊ: यूपी में अपराधी कितने बेखौफ हैं इसकी एक मिसाल यूपी की बस्‍ती जिला जेल से आई है जहां कत्‍ल और हथियार तस्‍करी के जुर्म में सजा काट रहे तीन अपराधियों ने जेल के अंदर तरह तरह की सेल्‍फी खिंचवा कर फेसबुक पर पोस्‍ट कर दी है और उसका टाइटल दिया है 'माफिया'. इन तस्‍वीरों के वायरल होने के बावजूद सरकार ने इस मामले में किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है.

हथियार तस्‍करी के मामले में बंद विशाल उपाध्‍याय ने फेसबुक पर जेल से सेल्‍फी पोस्‍ट की तो उसका टाइटल दिया 'माफिया'. वो खुद ही अपने और अपने दोस्‍तों के माफिया होने का ऐलान कर रहा है. फोटो में दाहिनी तरफ काली जैकेट में विशाल, बीच में कत्‍ल जैसे गुनाह के लिए उम्र कैद की सजा काट रहा आरिफ खान और कई रंगों वाली टी-शर्ट में राकेश उपाध्‍याय है और वह भी उम्र कैद की सजा काट रहा है.
 
up selfie from jail 650

दूसरी फोटो में विशाल मरून चेक की शर्ट में कातिल आरिफ खान के साथ है और मोबाइल पर बात करते हुए पोज दे रहा है. तीसरी फोटो में वो उसी चेक शर्ट में अकेले है. चौथी फोटो में वो काले लेदर जैकेट में पोज दे रहा है और पांचवीं फोटो में उसके साथ काले चश्‍मे में आरिफ खान भी पोज दे रहा है. हालांकि अब ये तस्‍वीरें फेसबुक से हटा ली गई हैं.

टिप्पणियां
जेलर अनिल यादव कहते हैं, इसकी हम जांच कराएंगे. देखने से लगता है कि ये मुलाकात के समय है. किसी के द्वारा खींची गई हो, क्‍योंकि ये परिसर की फोटो है. जो दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई करेंगे. यूपी की जेलों में कैदियों की भीड़ भी है और अपराध का बोलबाला भी रहा है.

कुछ वक्‍त पहले फैजाबाद जेल से एक माफिया ने रंगदारी वसूलने का वीडियो जारी किया था. लखनऊ जेल के सुपरिटेंडेंट आरके तिवारी की हत्‍या कर दी गई थी. लखनऊ जेल के अंदर डिप्‍टी सीएमओ डॉक्‍टर आरके सचान को कत्‍ल किया गया. जेलों से बड़े पैमाने पर मोबाइल, शराब, नशा वगैरह बरामद होता रहा है. कई माफिया जेल से ठेकेदारी और वसूली करते रहे हैं. कुछ बड़े नेताओं के लिए तो कहते हैं कि जेल में बंद होने पर वो अंदर कवि सम्‍मेलन भी करते थे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement