बेटी को खून की पड़ी जरूरत तो पिता घर छोड़कर भागा, सिपाही ने कायम की मिसाल

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में रक्तदान करने के डर से भागे अपने पिता की शिकायत करने पुलिस के पास पहुंची एक किशोरी को एक सिपाही ने अपना खून देकर उसकी जिंदगी बचाई.

बेटी को खून की पड़ी जरूरत तो पिता घर छोड़कर भागा, सिपाही ने कायम की मिसाल

प्रतीकात्मक तस्वीर

शाहजहांपुर:

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में रक्तदान करने के डर से भागे अपने पिता की शिकायत करने पुलिस के पास पहुंची एक किशोरी को एक सिपाही ने अपना खून देकर उसकी जिंदगी बचाई. पुलिस अधीक्षक एस आनंद ने बताया कि अल्लाहगंज इलाके की रहने वाली सविता नामक 17 वर्षीय लड़की रविवार को थाने पहुंची और पुलिसकर्मियों से कहा कि वह बीमार है तथा उसका इलाज मेडिकल कॉलेज में हो रहा है. डॉक्टरों के मुताबिक उसे खून की खासी कमी है और अगर जल्द ही उसे रक्त नहीं चढ़ाया गया तो कुछ भी हो सकता है.

दरभंगा में बाढ़: शहर के लोग वाहनों की जगह नाव खरीद रहे, सरकार नहीं ले रही सुध

उन्होंने बताया कि किशोरी ने रोते हुए पुलिसकर्मियों से कहा कि उसका और उसके पिता का रक्त समूह एक ही है लेकिन रक्तदान करने की बात आई तो उसका पिता घर से भाग गया. आनंद ने बताया कि थाना अल्लाहगंज प्रभारी मान सिंह ने उन्हें पूरी बात बताई.


चरवाहे लड़के ने बचाई अपने कुत्ते की जान, तारीफ किए बिना न रह सके NDRF के DG

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस बारे में जब पुलिसकर्मियों से बात की गई तो राशिद खान नामक सिपाही रक्तदान के लिए तैयार हो गया और अस्पताल पहुंचकर उस लड़की को अपना एक यूनिट खून दिया. पुलिस अधीक्षक ने इस कार्य के लिए राशिद को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया है.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)