NDTV Khabar

मुलायम परिवार का 'झगड़ा पार्ट-2' : नये चेहरे की एंट्री, सपा के ऑफिस के बाहर शिवपाल के सेक्युलर मोर्चा का पोस्टर

शिवपाल और अखिलेश के बीच झगड़े में मुलायम भी शिवपाल के साथ नहीं बल्कि बेटे अखिलेश के साथ रहेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुलायम परिवार का 'झगड़ा पार्ट-2' : नये चेहरे की एंट्री, सपा के ऑफिस के बाहर शिवपाल के सेक्युलर मोर्चा का पोस्टर

ये पोस्टर समाजवादी पार्टी के दफ्तर के सामने लगाया गया है.

खास बातें

  1. शिवपाल का सेक्युलर मोर्चा
  2. पोस्टर में बेटे आदित्य की तस्वीर
  3. मुलायम सिंह यादव को भी जगह
लखनऊ: हाल ही में समाजवादी पार्टी से अलग होकर नया मोर्चा बनाने वालेशिवपाल सिंह यादवके समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के बैनर-पोस्टर समाजवादी पार्टी के दफ़्तर के बाहर लगाया गया है. पोस्टर में शिवपाल के साथ-साथ मुलायम सिंह की भी तस्वीर है. इसके साथ ही इसमें यादव परिवार के एक नये चेहरे की तस्वीर भी है. इनका नाम आदित्य यादव है जो शिवपाल के बेटे हैं. गौरतलब बीती एक सितंबर को शिवपाल सिंह यादव ने कहा था कि उनका मोर्चा आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगा. साथ ही दावा किया कि मोर्चे के सहयोग के बिना देश में अगली सरकार बनाना संभव नहीं होगा. यादव ने एक साथ ही भाजपा में शामिल होने की अटकलों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि यह सब विरोधियों की साजिश है. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उपेक्षित और अपमानित होकर उन्होंने मोर्चा बनाया है. उनका प्रयास होगा कि ऐसे लोगों को जोड़ें, जिनका समाजवादी पार्टी में सम्मान नहीं हो रहा है. इसीलिए सेक्युलर मोर्चा बनाकर अपने लोगों को काम दिया है.

प्रतीक यादव ने आखिरकार अपनी महंगी लैंबोर्गिनी कार के मसले पर दी सफाई

मुलायम रहेंगे किसके साथ
शिवपाल और अखिलेश के बीच झगड़े में मुलायम भी शिवपाल के साथ नहीं बल्कि बेटे अखिलेश के साथ रहेंगे. ऐसा संकेत उन्होंने खुद दिया है. शिवपाल यादव के अखिलेश से बगावत कर 'समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा' बनाने के बाद अखिलेश यादव के करीबी एक बड़े नेता मुलायम सिंह से मिले तो उन्होंने उनसे कहा कि वह पार्टी को मजबूत करने के लिए यूपी के हर मंडल में सभा करना चाहते हैं, जिसका इंतजाम किया जाए. बहुत लंबे अर्से बाद अब पार्टी दफ्तर भी आने-जाने लगे हैं.

मुलायम की दूसरी पत्नी पर अखिलेश के खिलाफ साजिश रचने का आरोप लगाने वाले MLC उदयवीर सपा से सस्पेंड

पशुपतिनाथ का दर्शन कर होगा चुनावी शंखनाद
खबर है कि शिवपाल यादव काठमांडू के पशुपतिनाथ मंदिर में दर्शन करने के बाद 2019 के लोकसभा चुनाव का शंखनाद करेंगे.

शिवपाल यादव ने बनाया समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा​


टिप्पणियां
क्यों हुआ था झगड़ा
​उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच टिकट बंटवारे को लेकर झगड़ा शुरू हुआ था. दोनों ही अपने-अपने खेमे के नेताओं को टिकट देना चाहते थे. शिवपाल उस समय प्रदेश अध्यक्ष थे उनका दावा था कि इस हैसियत से टिकट बंटवारा उनकी मर्जी से होना चाहिये लेकिन अखिलेश यादव का कहना था कि वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं जनता के बीच उन्हें जाना है. इसके बाद गायत्री प्रसाद प्रजापति को लेकर झगड़ा शुरू हुआ. बाद में यह लड़ाई पहले परिवार और फिर मंच पर आकर शुरू हो गई. अखिलेश यादव के पक्ष में उस समय ज्यादातर विधायक थे जिसके दम पर उन्होंने पार्टी के कार्यालय और फिर राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर कब्जा कर लिया. 

कुल मिलाकर इतना तो तय है कि शिवपाल के सेक्युलर मोर्चा के मैदान में आते ही एक बार फिर से समाजवादी परिवार में झगड़ा शुरू जो लोकसभा चुनाव में देखने को मिलेगी. इसका पहला हिस्सा हम उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले देख चुके हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement