NDTV Khabar

'चाचा की चाल' : बेटे के बाद अब भाई के साथ मंच पर दिखे मुलायम सिंह, शिवपाल यादव ने नेता जी को दिया यह ऑफर

उत्तर प्रदेश के सियासत में समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह के परिवार में हर दिन एक अलग नजारा देखने को मिलता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'चाचा की चाल' : बेटे के बाद अब भाई के साथ मंच पर दिखे मुलायम सिंह, शिवपाल यादव ने नेता जी को दिया यह ऑफर

मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. मुलायम सिंह यादव शिवपाल यादव के साथ मंच पर दिखे.
  2. शिवपाल ने अपनी पार्टी की टिकट पर चुनाव लड़ने का ऑफर किया.
  3. पिछले महीने अखिलेश के साथ मंच पर दिखे दे मुलायम सिंह यादव.
नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के सियासत में समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह के परिवार में हर दिन एक अलग नजारा देखने को मिलता है. भले ही समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव और उनके चाचा शिवपाल यादव के बीच में मनमुटाव और दूरियां हों, मगर इससे मुलायम सिंह पर कोई फर्क नहीं पड़ता दिख रहा है. मुलायम सिंह शायद बेटे और भाई के बीच में किसी तरह के अंतर नहीं रखना चाहते यही वजह है कि पिछले महीने अखिलेश यादव के साथ मंच साझा करने के बाद अब वह  समाजवादी पार्टी से अलग होकर सेक्युलर मोर्चा बनाने वाले शिवपाल सिंह यादव के साथ पहली बार शुक्रवार को मंच पर नजर आए. बता दें कि शिवपाल सिंह ने इसी साल अगस्त में समाजवादी पार्टी से अलग होकर अपनी नई पार्टी बनाई है. 

मिला मायावती वाला बंगला : 12 बेडरूम, 12 ड्रेसिंग रूम, 2 किचन, 8 एसी प्लांट, शिवपाल बोले- मुझे ऐसे ही बंगले की जरूरत थी

दरअसल, राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के मौके पर लखनऊ में शिवपाल और मुलायम एक साथ एक ही मंच पर दिखें.  इस कार्यक्रम के दौरान मुलायम सिंह यादव ने युवाओं से लोहिया के सिद्धांतों- गलत के खिलाफ लड़ो, पर चलने की अपील की. उन्होंने कहा कि लोहिया जी ने हमें सिखाया है कि अगर हमारा बड़ा भाई कुछ भी गलत करता है तो हमें उनका विरोध करना चाहिए. हालांकि, बाद में मीडिया से बात करते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि उन्हें अपने बड़े भाई का आशीर्वाद प्राप्त है.  शिवपाल यादव ने कहा कि राम मनोहर लोहिया की विरासत को आगे बढ़ाने की हमारी ज़िम्मेदारी है.अगर नेताजी (मुलायम सिंह यादव) हमारे साथ हैं, तो हम देश में एक नई क्रांति शुरू करेंगे. हालांकि, अटकलों को खारिज करते हुए, उन्होंने बाद में कहा कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी के साथ गठबंधन करने का कोई सवाल नहीं उठता. शिवपाल यादव ने कहा कि हम लोहिया जी के विश्वासों, आदर्शों को आगे बढ़ाएंगे और सांप्रदायिक्ता के खिलाफ लड़ेंगे. हम किसी तरह से बीजेपी के साथ नहीं जाएंगे. हमारी लड़ाई बीजेपी से है.

यूपी की योगी सरकार का फैसला: बसपा प्रमुख मायावती का बंगला सपा छोड़ चुके शिवपाल यादव को दिया

मुलायम सिंह यादव को अपनी पार्टी से टिकट ऑफर करते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि नेता जी (मुलायम सिंह यादव) लोकसभा चुनाव हमारी टिकट पर लड़ेंगे. हमने फैसला लिया है कि वह जहां से लड़गें हम उनका समर्थन करेंगे.  उन्होंने कहा कि हमारी नई गठित पार्टी समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा का पहला सम्मेलन अगले महीने होगा. पार्टी के विस्तार के प्रयास अभी भी जारी हैं. 

सपा हमारे खिलाफ प्रत्याशी उतारेगी तो 'जंग' होगी: शिवपाल यादव

टिप्पणियां
उन्होंने यह भी कहा कि हमारी पार्टी उत्तर प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटों पर 2019 के चुनाव में लड़ने के लिये तैयार है. मगर मैनपुरी को वह मुलायम सिंह के लिए छोड़ देंगे. बता दें कि शिवपाल यागद को अपने भतीजे अखिलेश यादव के पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में प्रभार संभालने के बाद समाजवादी पार्टी के उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष पद से हटना पड़ा था. 

VIDEO: शिवपाल यादव को मिला मायावती का बंगला


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement