NDTV Khabar

शिवपाल यादव ने बताया, बिहार में किस तरह बच सकता था महागठबंधन; नए मोर्च के गठन के संकेत भी दिए

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि बिहार के महागठबंधन में अगर सपा को वाजिब भागीदारी दी जाती और मुलायम को उचित सम्मान दिया गया होता तो हालात अलग ही होते.

867 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिवपाल यादव ने बताया, बिहार में किस तरह बच सकता था महागठबंधन; नए मोर्च के गठन के संकेत भी दिए

समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंह यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. नेताजी के नेतृत्व में महागठबंधन बनता तो आज ऐसी स्थिति नहीं आती- शिवपाल
  2. मुलायम को उचित सम्मान दिया गया होता तो हालात अलग ही होते- शिवपाल यादव
  3. शिवपाल बोले, नेताजी के नेतृत्व में करीब दो माह बाद एक नया मोर्चा बनेगा.
आजमगढ़: समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंह यादव ने शुक्रवार को कहा कि अगर बिहार में सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के नेतृत्व में महागठबंधन बनता तो उसका ऐसा हश्र नहीं होता.

शिवपाल ने बेलनाडीह गांव में एक निजी कार्यक्रम में शिरकत से अलग पत्रकारों से बातचीत में बिहार में जदयू और राजद का महागठबंधन टूटने के सवाल पर कहा कि अगर नेताजी (मुलायम) के नेतृत्व में महागठबंधन बनता तो आज ऐसी स्थिति नहीं आती.

ये भी पढ़ें...
लालू की पार्टी में भी उठे बगावती सुर, विधायक महेश्वर यादव ने कहा, 'तेजस्वी को इस्तीफा दे देना चाहिए था'

उन्होंने कहा कि बिहार के महागठबंधन में अगर सपा को वाजिब भागीदारी दी जाती और मुलायम को उचित सम्मान दिया गया होता तो हालात अलग ही होते. पूर्व मंत्री ने कहा कि अगर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी नेताजी को सम्मान देते तो विधानसभा चुनाव में सपा की करारी हार नहीं होती.

ये भी पढ़ें...
नीतीश से नाता टूटने के बाद लालू यादव बोले, अब ममता, अखिलेश, मायावती सब एक मंच पर आएंगे

उन्होंने कहा कि वह पूरे प्रदेश का भ्रमण कर रहे हैं. अब भी समय है अगर समाजवादी एकजुट नहीं हुए तो नेताजी के नेतृत्व में करीब दो माह बाद एक नया मोर्चा बनेगा.



सपा संस्थापक मुलायम को राज्यपाल बनाए जाने की तैयारियों सम्बन्धी अटकलों पर शिवपाल ने कहा कि नेताजी ऐसे किसी प्रस्ताव को स्वीकार नही करेंगे.

(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement