NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश : लोकसभा चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए बीएसपी से हाथ मिलाने को तैयार है समाजवादी पार्टी

यूपी विधानसभा में नेता विपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा कि देश तथा उत्तर प्रदेश के जो हालात हैं, उसको देखते हुए गैर भाजपाई दलों की एकजुटता आवश्यक है. लोकतंत्र की रक्षा के लिए भाजपा का सत्ता से बेदखल होना जरूरी है.

799 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश :  लोकसभा चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए बीएसपी से हाथ मिलाने को तैयार है समाजवादी पार्टी

यूपी विधानसभा में विपक्ष के नेता रामगोविंद चौधरी

खास बातें

  1. यूपी विधानसभा में विपक्ष के नेता हैं रामगोविंद चौधरी
  2. बीएसपी को साथ आने के लिए कहा
  3. अखिलेश यादव ने भी विपक्षी दलों को साथ आने को कहा
लखनऊ: क्या लोकसभा चुनाव के पहले उत्तर प्रदेश में बीएसपी और समाजवादी पार्टी साथ आ जाएंगी, ये सवाल विधानसभा चुनाव के समय ही उठने लगा था और इस बात का संकेत सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की ओर से भी दिया जा चुका है अब  उत्तर प्रदेश विधानसभा में  विपक्ष के नेता समाजवादी पार्टी (सपा) के रामगोविंद चौधरी ने लोकसभा चुनाव में भाजपा को परास्त करने और लोकतंत्र की 'पुनर्बहाली' के लिएबहुजन समाज पार्टी (बसपा)से सपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का आह्वान किया है. चौधरी ने कल रात यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कल मुम्बई में विपक्षी दलों की एकजुटता की आवश्यकता संबंधी बयान दिया है. बसपा को भी अखिलेश के बयान का स्वागत करते हुए सपा के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ने की घोषणा करनी चाहिए.  बता दें कि अखिलेश ने कल मुम्बई में संवाददाताओं से बातचीत में कहा था कि आर्थिक अराजकता के दौर में विपक्षी दलों का एकजुट होना जरूरी है.

उत्तर प्रदेश की राजनीति का 'काला दिन' : 2 जून 1995, गेस्ट हाउस कांड और मायावती

टिप्पणियां
चौधरी ने कहा कि देश तथा उत्तर प्रदेश के जो हालात हैं, उसको देखते हुए गैर भाजपाई दलों की एकजुटता आवश्यक है. लोकतंत्र की रक्षा के लिए भाजपा का सत्ता से बेदखल होना जरूरी है.  नेता विपक्ष ने भाजपा पर तीखे हमले करते हुए कहा कि भाजपा मुसलमानों को निशाना बनाकर उन्हें उत्पीड़ित कर रही है. कासगंज में मुसलमानों पर अत्याचार हो रहा है. भाजपा ने बजरंग दल और विश्व हिन्दू परिषद जैसे संगठनों को मुसलमानों पर अत्याचार करने के लिये खुली छूट दे दी है.  जनहित और विकास के मसले पर नाकाम साबित हो चुकी भाजपा की केन्द्र और राज्य सरकार अगला लोकसभा चुनाव हिन्दू-मुसलमान के नाम पर लड़ने की जुगत में है.

वीडियो : जब मायावती के साथ पोस्टर में दिखे ये नेता

आगामी आठ फरवरी को शुरू हो रहे प्रदेश विधानमण्डल सत्र में विपक्षीदलों की रणनीति को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि सपा विपक्षी दलों के साथ मिलकर सदन में भाजपा को जनहित से जुड़े मसलों को लेकर घेरेगी.  चौधरी ने कहा कि सपा उत्तर प्रदेश की बदतर कानून व्यवस्था, मुसलमानों के उत्पीड़न, किसानों की बर्बादी, बेरोजगारों के साथ धोखा, भ्रष्टाचार तथा जनहित से जुड़े अन्य मुद्दों को लेकर मुखर विरोध करेगी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement