NDTV Khabar

जिम ट्रेनर को गोली मारने का मामला: SSP बोले- यह 'फर्जी एनकाउंटर' का नहीं बल्कि दुश्मनी का केस

जीतेंद्र के परिवार का आरोप है कि सीएनजी स्टेशन पर कहासुनी के बाद नशे में धुत यूपी पुलिस के दारोगा ने उसे गोली मार दी. जीतेंद्र जिम ट्रेनर है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जिम ट्रेनर को गोली मारने का मामला: SSP बोले- यह 'फर्जी एनकाउंटर' का नहीं बल्कि दुश्मनी का केस

एसएसपी लव कुमार

खास बातें

  1. तत्काल प्रभाव से 4 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है
  2. ट्रेनी सब इंस्‍पेक्‍टर की सर्विस रिवॉल्वर जब्त कर ली है
  3. पहली नजर में यह व्यक्तिगत दुश्मनी का मामला नजर आता है
नोएडा : यूपी के नोएडा के सेक्टर 122 में शनिवार रात एक युवक को गोली मारने के मामले में तत्काल प्रभाव से 4 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है. एसएसपी लव कुमार ने बताया कि हमने ट्रेनी सब इंस्‍पेक्‍टर  की सर्विस रिवॉल्वर जब्त कर ली है, जिससे गोली चलाई गई थी और उसे जेल भेज दिया है. आपको बता दें कि पीड़ित युवक जीतेंद्र यादव को गंभीर हालत में फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया है. जीतेंद्र के परिवार का आरोप है कि सीएनजी स्टेशन पर कहासुनी के बाद नशे में धुत यूपी पुलिस के दारोगा ने उसे गोली मार दी. जीतेंद्र जिम ट्रेनर है. 

नशे में धुत यूपी पुलिस के दारोगा पर जिम ट्रेनर को गोली मारने का आरोप

एसएसपी लव कुमार ने कहा कि पहली नजर में यह व्यक्तिगत दुश्मनी का मामला नजर आता है. जांच के दौरान यह पाया कि ट्रेनी सब इंस्‍पेक्‍टर उस व्यक्ति के बड़े भाई को जानता था जिसे गोली लगी है. आरोपी एसआई और पीड़ित जीतेंद्र यादव भी एक दूसरे को अच्छे से जानते थे. आरोपी एसआई सादी वर्दी में था, जबकि बाकी पुलिस वाले वर्दी में थी. आरोपी ने ही बाकी पुलिस टीम को सूचना दी थी कि कही हंगामें की सूचना है. एसआई के कहने पर ही मौके पर पूरी टीम पहुंची थी. गोली क्यों मारी गई, इसकी अभी जांच चल रही है.

मुठभेड़ में दारोगा और सिपाही घायल, 'लूट किंग' को पुुलिस ने दबोचा

एसएसपी लव कुमार ने बताया कि ट्रेनी सब इंस्‍पेक्‍टर को जेल भेज दिया गया है और बाकी तीन पुलिसवालों की भूमिका की जांच की जा रही है, जिसमें दो कांस्‍टेबल और एक सब इंस्‍पेक्‍टर शामिल हैं. उन्‍होंने कहा है कि यह मामला फर्जी एनकाउंटर का नहीं था. यह मामला दुश्‍मनी का लगता है और हम सब चीजों की जांच कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि स्‍टॉफ ने मुझे बताया कि जिस व्‍यक्ति को गोली मारी उसके साथ कुछ बहस हुई थी. 

महिला से फोन पर गंदी बातें करता था दारोगा, अब हो गया सस्‍पेंड

टिप्पणियां
पीड़ित परिवार का आरोप है, जीतेंद्र रात को लगभग 10 बजे जब बहरामपुर से बहन की सगाई कर लौट रहे तभी नशे मे धुत विजयदर्शन नाम के फर्जी एनकाउंटर करने की थी कोशिश और वही बाकी साथियों को पुलिस ने गायब कर दिया है. उनका कहना है कि जीतेंद्र का कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं थे. उन्‍होंने कहा कि गोली गले में लगी है और रीढ़ की हड्डी में अटक गई. 

VIDEO: बिजनौर में यूपी पुलिस के दारोगा की हत्या

वहीं मौके पर पहुंचे एसएसपी लव कुमार मामले की निष्पक्ष जांच की बात कही और परिवारवालों से तहरीर लेकर इस पूरे मामले को दर्ज कर जांच करने और आरोपी को न बख्शने की बात कही थी.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement