कोरोना वायरस का असर : 50 साल बाद कुछ यूं बंद हुआ ताजमहल...

Coronavirus: ताजमहल बंद हो गया. जिसके आंगन में हमेशा सारी दुनिया से आए उसके चाहने वालों का हुजूम होता है, आज बिल्कुल तनहा खड़ा है. दूर देशों से आए कुछ लोग उसके फाटक की झिरी से उसकी झलक पाने की कोशिश करते रहे.

कोरोना वायरस का असर : 50 साल बाद कुछ यूं बंद हुआ ताजमहल...

ताजमहल पहुंचे कई सैलानियों को मायूस होना पड़ा (फाइल फोटो)

आगरा:

Coronavirus: कोरोना के खौफ से मंगलवार से ताजमहल बंद हो गया. ताज के दीदार को आए तमाम सैलानी मायूस लौटे, कुछ विदेशी सैलानी ताजमहल के बाहर रोते हुए द‍िखे. ताजमहल, लाल किला, फतेहपुर सीकरी अगर ज्यादा दिन बंद रहे तो आगरा की अर्थव्यवस्था बिगड़ जाएगी क्योंकि आगरा की आधी आबादी ताजमहल से ही रोजी पाती है. यहां हर साल करीब 90 लाख सैलानी आते हैं. और टूरिज्म और चमड़ा उद्योग से सालाना करीब 6000 करोड़ आमदनी होती है.

ताजमहल बंद हो गया. जिसके आंगन में हमेशा सारी दुनिया से आए उसके चाहने वालों का हुजूम होता है, आज बिल्कुल तनहा खड़ा है. दूर देशों से आए कुछ लोग उसके फाटक की झिरी से उसकी झलक पाने की कोशिश करते रहे. बाकी सैलानी महताब गार्डन के पास के मैदान से बहुत दूर से देखते रहे, कुछ नहीं देख पाए तो रो पड़े.

ताजमहल में हर साल शाहजहां और मुमताजमहल की कब्रों पर उर्स होता है क्योंकि ये उनका मकबरा है. उस दिन लोगों को नकी कब्रों की जियारत की इजाजत होती है. इस बार उर्स भी रद्द हो गया है. ताजमहल पहुंचे कई सैलानी ऐसे भी थे जिन्हें लगा कि उसकी बंदी मुनासिब है.

आगरा का किला देखने भी तमाम देसी-विदेशी सैलानी पहुंचे लेकिन बंद होने की वजह से बाहर से ही सेल्फी लेते रहे. इसके पहले ताजमहल को बंद हुए करीब आधी सदी गुजर गई. 1971 में भारत-पाक जंग के वक्त इसे सुरक्षा की वजहों से बंद किया गया था. 

फेडरेशन ऑफ ट्रेवल एसोसिएशन के राजीव तिवारी कहते हैं, 'आज की परिस्थ‍िति में इसको बंद किया जाना जबकि पर्यटकों की संख्या 10 या 12 गुणा बढ़ गई है, 1971 के परिप्रक्ष्य में अगर देखें. आज करीब 90 लाख पर्यटक स्वदेशी और विदेशी मिलाकर आगरा आते हैं और ताजमहल देखते हैं. इस बहुत भारी प्रभाव पड़ना है.'

ताजमहल आगरा की आधी आबादी को रोजी देता है. यहां 600 से ज्यादा होटल हैं. देश के सबसे महंगे होटल भी यहीं हैं जो साल भर देसी-विदेशी सैलानियों से भरे रहते हैं.

आगरा में होटल एंड रेस्टोरेंटट एसोसिएशन के अध्यक्ष रमेश वाधवा कहते हैं, 'अकेली होटल इंडस्ट्री 500 करोड़ रुपये का बिजनेस करती है. 150 करोड़ रुपये का बिजनेस रेस्टोरेंट करते हैं, 500 करोड़ रुपये का बिजनेस हैंडीक्राफ्ट करती है और 400 करोड़ के आसपास का ट्रेवल ट्रेड के लोगों का बिजनेस होता है.'

ताजमहल को जाने वाली सड़कों पर बाजार बंद हो चुके हैं. जब ताज बंद है तो इस बाजार में कौन आए. ताजमहल के साउथ गेट के बाजार में हमें सिर्फ एक दुकान खुली दिखी जिसमें कोई नहीं सिर्फ दुकानदार सफाई करते नजर आए.

कोरोना को लेकर बढ़ी एहतियात, रेलवे ने भी उठाए कई कदम

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com