NDTV Khabar

क्या रद्द होगा तन्वी का पासपोर्ट? विवाद के बाद सुषमा स्वराज के निर्देश पर हुआ था जारी

लखनऊ स्थित पासपोर्ट कार्यालय में एक अधिकारी पर बदसुलूकी का आरोप लगाने वाले हिन्दू-मुस्लिम दम्पती को पासपोर्ट जारी किये जाने के मामले में स्थानीय पुलिस ने आज अपनी रिपोर्ट सौंप दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या रद्द होगा तन्वी का पासपोर्ट? विवाद के बाद सुषमा स्वराज के निर्देश पर हुआ था जारी

अनस सिद्दीकी और तान्वी सेठ (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. सुषमा स्वराज के निर्देश पर जारी हुआ था पासपोर्ट
  2. जांच में आवेदक का पता निकला गलत
  3. आवेदक नोएडा में रह रही हैं
लखनऊ:

लखनऊ स्थित पासपोर्ट कार्यालय में एक अधिकारी पर बदसुलूकी का आरोप लगाने वाले हिन्दू-मुस्लिम दम्पती को पासपोर्ट जारी किये जाने के मामले में स्थानीय पुलिस ने आज अपनी रिपोर्ट सौंप दी. पुलिस की रिपोर्ट में कहा गया है कि पासपोर्ट सेवा अधिकारी विकास मिश्रा पर बेजा टिप्पणियां करने का आरोप लगाने वाली आवेदक तन्वी सेठ पिछले एक साल से लखनऊ में नहीं रह रही थी. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार ने यहां संवाददाताओं को बताया ‘‘हमने क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय को अपनी रिपोर्ट दे दी है. तन्वी सेठ पिछले एक साल से लखनऊ में नहीं रह रही थीं. वह नोएडा में रहती हैं और वहीं कुछ काम करती हैं.‘‘ उन्होंने कहा कि पासपोर्ट जारी करने के लिए नियम है कि आवेदक उस पते पर एक साल से रह रहा हो, जहां का निवासी बताकर उसने आवेदन किया है. 

यह भी पढ़ें:  हिंदू-मुस्लिम जोड़े को सुषमा स्‍वराज के दखल के बाद मिला पासपोर्ट


टिप्पणियां

मालूम हो कि मोहम्मद अनस और उनकी पत्नी तन्वी सेठ ने पिछले सप्ताह आरोप लगाया था कि वे गत 20 जून को पासपोर्ट का नवीनीकरण कराने के लिए क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय गये थे. दम्पति ने आरोप लगाया था कि पासपोर्ट सेवा अधिकारी विकास मिश्रा ने अनस से कहा कि वह हिन्दू धर्म अपना लें. साथ ही उन्होंने तन्वी से सभी दस्तावेजों में अपना नाम बदलने का निर्देश दिया. उन्होंने आरोप लगाया था कि जब दोनों ने ऐसा करने से इन्कार कर दिया तो अधिकारी उन पर चिल्लाने लगा. घटना के बाद दम्पती घर लौट आए थे और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्वीट कर पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी थी. 

VIDEO: हिंदू-मुस्लिम जोड़े को विदेश मंत्रालय के दखल के बाद मिला पासपोर्ट
मामला तूल पकड़ने पर आरोपी अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करके उसका तबादला गोरखपुर कर दिया गया था. उसके बाद अनस और तन्वी के पासपोर्ट जारी कर दिये गये थे. अनस और तनवी ने 2007 में शादी की थी. उनकी छह साल की एक बेटी भी है और दोनों नोएडा की एक निजी कंपनी में काम करते हैं. अनस के मुताबिक तन्वी और उन्होंने 19 जून को पासपोर्ट के लिए आवेदन किया था और लखनऊ में पासपोर्ट सेवा केंद्र में उन्हें 20 जून को बुलाया गया था. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... नागरिकता कानून को लेकर लोकसभा स्पीकर ने EU को लिखा खत,  कहा- CAA के खिलाफ प्रस्ताव गलत नजीर होगा

Advertisement