NDTV Khabar

मध्य प्रदेश के सागर जिले से एक किशोरी को अगवा मथुरा के निकट ट्रेन में छोड़कर भाग गए तीन साधु

मध्य प्रदेश के सागर जिले के मानगढ़ इलाके से एक किशोरी को अगवा कर ला रहे तीन साधु उसे बेहोशी की हालत में छोड़कर मथुरा जंकशन स्टेशन से पूर्व आउटर पर ट्रेन से उतरकर कर भाग गए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मध्य प्रदेश के सागर जिले से एक किशोरी को अगवा मथुरा के निकट ट्रेन में छोड़कर भाग गए तीन साधु

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

मध्य प्रदेश के सागर जिले के मानगढ़ इलाके से एक किशोरी को अगवा कर ला रहे तीन साधु उसे बेहोशी की हालत में छोड़कर मथुरा जंकशन स्टेशन से पूर्व आउटर पर ट्रेन से उतरकर कर भाग गए.  रेलवे सुरक्षा बल कोतवाली प्रभारी निरीक्षक चंद्रभान प्रसाद के अनुसार "होश में आने पर किशोरी ने बताया, " वह मध्य प्रदेश के सागर जनपद के मानगढ़ कस्बे की रहने वाली है. उसका नाम रश्मि है. उसके पिता थानसिंह टाइल्स लगाने के ठेकेदार हैं. माता-पिता 17 जुलाई को गिरिराज परिक्रमा देने मथुरा आए हुए थे. तभी गांव के देवराज मंदिर एक बड़े भण्डारे का आयोजन हुआ तो वह भी सहेलियों के साथ भण्डारे में शामिल होने के लिए चली गई."

बीच सड़क खड़ी थी कार, नहीं हटाने पर पुलिसवाला अंदर बैठा तो साथ लेकर भागे


किशोरी ने बताया, "भण्डारे में उसे तीन साधु मिले जिन्होंने उसे प्रसाद के नाम पर कुछ नशीला पदार्थ खिला दिया और वे उसे ट्रेन में बैठा कर अपने साथ ले चले. लेकिन मथुरा के निकट यात्रियों की पूछताछ से घबराकर भाग गए. तब उन्हीं यात्रियों ने उसे मथुरा के स्टेशन पर उतार कर रेलवे सुरक्षा बल को सौंप दिया."

रिजनों ने दर्ज कराई अपहरण की शिकायत, दो दिन बाद बेटा गर्लफ्रेंड का इंतजार करता पार्क में मिला

आरपीएफ ने किशोरी को चाइल्ड हेल्प लाइन के सुपुर्द कर दिया था. चाइल्ड हेल्पलाइन ने किशोरी के पिता से सम्पर्क किया है. थान सिंह ने बताया कि मथुरा से वापस लौटने पर उन्हें जब रश्मि घर पर नहीं मिली तो उन्होंने थाना मानगढ़ में रिपोर्ट दर्ज करायी. 

महाराष्ट्र: ट्रक-कार की जबरदस्त टक्कर, 9 छात्रों की मौत​

टिप्पणियां

इनपुट : भाषा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share

Advertisement