NDTV Khabar

लखनऊ में एक अप्रैल से अमौसी हवाई अड्डे से मुंशी पुलिया तक की यात्रा मेट्रो में करें

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अमौसी हवाई अड्डे से मुंशी पुलिया तक मेट्रो का काम एक अप्रैल 2019 तक पूरा हो जायेगा और शहर के एक कोने से दूसरे कोने तक मेट्रो दौड़ने लगेगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लखनऊ में एक अप्रैल से अमौसी हवाई अड्डे से मुंशी पुलिया तक की यात्रा मेट्रो में करें

प्रतीकात्मक फोटो

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अमौसी हवाई अड्डे से मुंशी पुलिया तक मेट्रो का काम एक अप्रैल 2019 तक पूरा हो जायेगा और शहर के एक कोने से दूसरे कोने तक मेट्रो दौड़ने लगेगी. करीब 23 किलोमीटर की इस दूरी को तय करने में मेट्रो को 40 मिनट का समय लगेगा. इस रूट पर 21 मेट्रो स्टेशन बनाये जा रहे हैं. अभी तक लखनऊ मेट्रो केवल चारबाग रेलवे स्टेशन से ट्रान्सपोर्ट नगर तक की करीब साढ़े आठ किलोमीटर की दूरी ही तय करती है. लखनऊ मेट्रो के प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने पत्रकारों से कहा कि ‘‘अमौसी एयरपोर्ट से मुंशी पुलिया (इंदिरा नगर) तक मेट्रो का काम एक अप्रैल 2019 तक पूरा करने का लक्ष्य है. हमें उम्मीद है कि एक अप्रैल से इस 23 किलोमीटर लंबे रूट पर मेट्रो दौड़ने लगेगी. अभी तक इस रूट पर करीब 85 फीसदी काम पूरा हो गया है. हम उम्मीद करते हैं कि इस लंबे रूट पर मेट्रो चलने से इस पर करीब एक लाख यात्री रोजाना यात्रा करेंगे.'' 

यात्रीगण कृपया ध्यान दें, लखनऊ मेट्रो में 3 दिन तक नहीं मिलेंगे काउंटर टिकट क्योंकि...

उन्होंने कहा कि इस 23 किलोमीटर रूट पर 21 मेट्रो स्टेशन होंगे और अधिकतम किराया 60 रूपया होगा. अभी मुंशी पुलिया से हवाई अड्डे तक किसी को भी अपने वाहन से जाने में एक से डेढ़ घंटे का समय लगता है लेकिन मेट्रो आरंभ हो जाने के बाद यह दूरी केवल 40 मिनट में पूरी होगी और किसी को भी यातायात जाम के झंझट में भी नही फंसना पड़ेगा. कुमार ने बताया कि इस रूट पर सबसे कठिन काम गोमती नदी पर पुल का निर्माण था जो इसी महीने 30 सितंबर तक पूरा होने की उम्मीद है. 

पहले दिन ही लखनऊ मेट्रो हुई ठप, अखिलेश यादव भी तंज कसना नहीं भूले

टिप्पणियां
उन्होंने बताया कि अभी तक चारबाग रेलवे स्टेशन से ट्रांसपोर्ट नगर तक साढ़े आठ किलोमीटर के रूट पर मेट्रो ट्रेन चल रही है. इस रूट पर प्रतिदिन करीब 12 से 13 हजार यात्री यात्रा कर रहे हैं. जब अमौसी हवाईअड्डे से मुंशीपुलिया तक की मेट्रो आरंभ हो जायेगी तब हमें उम्मीद है कि प्रतिदिन एक लाख यात्री यात्रा करेंगे क्योंकि इस रूट में शहर के सबसे व्यस्तम बाजार हजरतगंज, विधानसभा सचिवालय, लखनऊ विश्वविद्यालय, आईटी चौराहा, निशातगंज और इंदिरानगर जैसे इलाके पडेंगे. 

VIDEO: पहले ही दिन तकनीकी खराबी से अटकी लखनऊ मेट्रो
इस सवाल पर कि इस रूट के पूरा हो जाने के बाद अगले किस रूट पर काम होगा, कुमार ने कहा कि फिर ईस्ट वेस्ट कॉरीडोर पर काम होगा लेकिन इस बारे में अभी सरकार काम कर रही है इसलिये यह बताना मुश्किल होगा कि अगले रूट पर काम कब से आरंभ होगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement