अमेठी : हिरासत में मौत के बाद दो पुलिस अधिकारी निलंबित

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के दिशानिर्देश का अनुकरण करते हुए सबसे पहले मजिस्ट्रेट के सामने पंचायतनामा करवाया गया. उसके बाद पैनल से शव का पोस्टमार्टम करवाया गया है, जिसकी वीडियोग्राफी भी कराई गयी है.उन्होंने बताया कि इसमें वादी की तरफ से जो भी तहरीर आएगी, उसके आधार पर मुकदमा लिखा जायेगा. 

अमेठी :  हिरासत में मौत के बाद दो पुलिस अधिकारी निलंबित

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

अमेठी शहर की इंहौना चौकी में आरोपी की पुलिस हिरासत में मौत के बाद दो पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है. पुलिस अधीक्षक ख्याति गर्ग ने सोमवार को बताया कि चोरी के संदेह में हिरासत में लिए गए राम अवतार चौधरी (35) की रविवार को इंहौना पुलिस चौकी में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गयी थी. उन्होंने बताया कि अवैध रूप से हिरासत में रखने और मानवाधिकार उल्लंघन का प्रथम दृष्टया दोषी पाये जाने के बाद थाना प्रभारी एंव चौकी इंचार्ज को निलंबित कर दिया गया है.  मामले की मजिस्ट्रेट जांच भी करायी जा रही है. ख्याति ने बताया कि उपरोक्त मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के दिशानिर्देश का अनुकरण करते हुए सबसे पहले मजिस्ट्रेट के सामने पंचायतनामा करवाया गया. उसके बाद पैनल से शव का पोस्टमार्टम करवाया गया है, जिसकी वीडियोग्राफी भी कराई गयी है.उन्होंने बताया कि इसमें वादी की तरफ से जो भी तहरीर आएगी, उसके आधार पर मुकदमा लिखा जायेगा. 

बिहार में दो मुस्लिम युवकों की हिरासत में कथित यातना से मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट का SIT जांच से इनकार

ख्याति ने बताया कि अयोध्या क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक संजीव कुमार ने भी रविवार देर शाम घटना स्थल का दौरा कर हालात का जायजा लेने के बाद जिले के अधिकारियों के साथ बैठक की. इन्हौना चौकी में 25 अगस्त को पुलिस हिरासत में संदिग्ध हालात में आरोपी राम अवतार चौधरी की मौत हो गयी थी.  मृतक के पिता राम अभिलाख एवं माता रामपति का आरोप है कि पुलिस ने पीट-पीट कर उनके बेटे को मार डाला.
 

जानिए उन्नाव मामले में कब क्या हुआ?​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)