NDTV Khabar

उन्नाव रेप केस : सीबीआई की टीम पीड़ित परिवार का बयान लेने पहुंची गेस्ट हाउस

हाईकोर्ट ने इस मामले से साफ है कि उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है. कोर्ट ने आदेश सुरक्षित रख लिया है, जिसे शुक्रवार दोपहर दो बजे सुनाया जाएगा. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उन्नाव रेप केस : सीबीआई की टीम पीड़ित परिवार का बयान लेने पहुंची गेस्ट हाउस

सीबीआई की टीम उन्नाव के उस गेस्ट हाउस पहुंची है जहां पर पीड़ित परिवार को ठहराया गया है

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में सामूहिक दुष्कर्म मामले की जांच के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की टीम उन्नाव पहुंच चुकी है. सीबीआई पीड़ित परिवार के सदस्यों का बयान लेने यहां पहुंची है. इससे पहले सीबीआई ने शुक्रवार तड़के आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को हिरासत में ले लिया था. इस बीच मुख्यमंत्री योगी ने इस मामले में चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि एसआईटी की रिपोर्ट मिलते ही हमने जांच सीबीआई को सौंप दी थी.सीबीआई फिलहाल उनसे पूछताछ कर रही है. सीबीआई ने जांच हाथ में आने के बाद गुरुवार को ही इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली थी. उन्नाव सामूहिक दुष्कर्म मामले में विधायक को हिरासत में लेकर उन्हें सीबीआई कार्यालय लाया गया है, जहां उनसे पूछताछ की जा रही है.​

कुलदीप सिंह सेंगर : 2007 में थी 36 लाख की संपत्ति, अब हैं करोड़ों के मालिक, 21 बड़ी बातें

सीबीआई टीम ने एसआईटी को भी तलब किया है, उन्हें इस मामले में जुड़े अब तक के दस्तावेज सौंपेंगी. भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर किशोरी ने दुष्कर्म का आरोप लगाया था.  सूत्रों के मुताबिक, कुलदीप सिंह सेंगर से सुबह पांच बजे से ही पूछताछ चल रही है. पूछताछ के दौरान सही जानकारी नहीं मिलने पर सीबीआई उन्हें गिरफ्तार भी कर सकती है. गिरफ्तारी के बाद सीबीआई आज ही उन्हें रिमांड पर लेने के लिए अदालत में पेश कर सकती है.  

टिप्पणियां
वीडियो : कुलदीप सिंह सेंगर हिरासत में

उन्नाव सामूहिक दुष्कर्म कांड के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए शुक्रवार को चित्रकूट में कहा था, "एसआईटी की रिपोर्ट मिलते ही हमने दोषी अफसरों पर कार्यवाही करते हुए यह मामला सीबीआई को रेफर कर दिया है.  सीबीआई शायद विधायक को हिरासत में लेकर पूछताछ भी कर रही है."  गौरतलब है कि प्रदेश सरकार ने मामले की पूरी जांच सीबीआई को सौंप दी थी. मामले में गुरुवार को विधायक पर दुष्कर्म का मामला दर्ज कर लिया. उच्च न्यायालय ने पुलिस की निष्क्रियता और अभियुक्तों को बचाने की कोशिश पर तल्ख टिप्पणी करते हुए गुरुवार को कहा था कि इस मामले से साफ है कि उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है. कोर्ट ने आदेश सुरक्षित रख लिया है, जिसे शुक्रवार दोपहर दो बजे सुनाया जाएगा. 

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement