NDTV Khabar

यूपी एटीएस ने मुजफ्फरनगर में एक संदिग्ध आतंकवादी को गिरफ्तार किया, फर्जी दस्तावेज मिले

गिरफ्तार संदिग्ध आतंकी बांग्लादेश का, आतंकवादी संगठन ‘अन्सारुल बांग्ला टीम’ से जुड़े हैं तार

103 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
यूपी एटीएस ने मुजफ्फरनगर में एक संदिग्ध आतंकवादी को गिरफ्तार किया, फर्जी दस्तावेज मिले

मुजफ्फरनगर में एटीएस ने एक बांग्लादेशी संदिग्ध आतंकवादी को गिरफ्तार कर लिया है.

खास बातें

  1. आतंकी अब्दुल्ला एक माह से मुजफ्फरनगर में रह रहा था
  2. सहारनपुर के देवबंद क्षेत्र के अम्बेहटा शेख इलाके में भी रहा
  3. बांग्लादेशी आतंकियों को भारत में रहने के लिए करता था मदद
लखनऊ: यूपी के मुजफ्फरनगर जिले में आज एटीएस ने एक संदिग्ध आतंकवादी को धरदबोचा. यह दहशतगर्द बांग्लादेश का है और वहां के आतंकी संगठन ‘अन्सारुल्ला बांग्ला टीम’ से जुड़ा है. यह संगठन 'अलकायदा' से प्रेरित है. संदिग्ध आतंकी के पास फर्जी पासपोर्ट और आधार कार्ड के अलावा कई दस्तावेज मिले हैं.

यूपी के आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) ने बांग्लादेश के आतंकवादी संगठन ‘अन्सारुल्ला बांग्ला टीम’ से जुड़े एक संदिग्ध दहशतगर्द को आज राज्य के मुजफ्फरनगर जिले से गिरफ्तार किया. एटीएस के महानिरीक्षक असीम अरुण ने यहां बताया कि दस्ते ने अब्दुल्ला अल मामून नामक व्यक्ति को आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में मुजफ्फरनगर जिले के कुटेसरा क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है. शुरुआती पूछताछ में पता लगा है कि वह बांग्लादेश के प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन ‘अन्सारुल्ला बांग्ला टीम’ से जुड़ा है.

यह भी पढ़ें : ढाका आतंकी हमले का मुख्य साजिशकर्ता गिरफ्तार

अन्सारुल्ला बांग्ला टीम कुख्यात आतंकवादी ओसामा बिन लादेन द्वारा गठित किए गए आतंकवादी संगठन ‘अलकायदा’ से प्रेरित तंजीम बताई जाती है.

यह भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर के सोपोर में लश्कर का आतंकी पकड़ा गया, हथियार भी बरामद

अरुण ने बताया कि बांग्लादेश के मोमिन शाही जिले के हुसनपुर गांव का रहने वाला अब्दुल्ला पिछले करीब एक माह से मुजफ्फरनगर के कुटेसरा में रह रहा था. इससे पहले वह सहारनपुर जिले के देवबंद थाना क्षेत्र में स्थित अम्बेहटा शेख इलाके में रह रहा था. वहीं पर उसने फर्जी दस्तावेज के आधार पर अपना पासपोर्ट बनवाया था. उसके कब्जे से फर्जी आधार कार्ड, पासपोर्ट, चार मोहरें तथा 13 पहचान पत्र बरामद किए गए हैं.

VIDEO : लश्कर का आतंकी भी पकड़ा गया था

टिप्पणियां


अरुण के मुताबिक अब्दुल्ला ने प्रारम्भिक पूछताछ में बताया है कि वह देवबंद में रहकर बांग्लादेश निवासी फैजान की मदद से आतंकवादियों, खासकर बांग्लादेशी आतंकवादियों को फर्जी पहचान-पत्र तैयार कराकर भारत में सुरक्षित रूप से रहने में सहायता कर रहा था. उन्होंने बताया कि फैजान की तलाश की जा रही है. इस प्रकरण में तीन अन्य व्यक्तियों को भी पूछताछ के लिए बुलाया गया है.
(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement