अखिलेश-मायावती, और 'हट नॉटी कहीं का', देखें-यूपी के बीजेपी अध्यक्ष का विवादास्पद बयान

महेंद्र नाथ पांडेय ने गेस्ट हाउस कांड का जिक्र करते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और बसपा अध्यक्ष मायावती (Mayawati) का मजाक उड़ाया है.

अखिलेश-मायावती, और 'हट नॉटी कहीं का', देखें-यूपी के बीजेपी अध्यक्ष का विवादास्पद बयान

उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय.

खास बातें

  • सपा-बसपा गठबंधन पर निशाना
  • यूपी BJP चीफ ने उड़ाया अखिलेश-माया का मजाक
  • किया गेस्ट हाउस कांड का जिक्र
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश केभारतीय जनता पार्टी (BJP) अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने एक बार फिरसमाजवादी पार्टी (Samajwadi Party)और बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party)के गठबंधन पर निशाना साधा है. उन्होंने गेस्ट हाउस कांड का जिक्र करते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)और बसपा अध्यक्ष मायावती (Mayawati)का मजाक उड़ाया है. उन्होंने उत्तर प्रदेश के चंदौली में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, 'मैंने सोशल मीडिया पर देखा कि एक नौजवान ने पोस्ट कर दिया कि मायावती जी को अखिलेश जी शॉल पहना रहे हैं. नौजवान नीचे लिखता है कि (अखिलेश के मुंह से) ये वही शॉल है, जो गेस्ट हाउस में पिताजी ने उतारा था. तो वो भी नटखट स्वर में जवाब दे रही हैं... हट नॉटी कहीं का.'

बता दें, पांडेय ने पहले भी सपा-बसपा गठबंधन को 'गुनाहबंधन' करार देते हुए कहा था कि यह एक-दूसरे के गुनाहों को ढंकने, छिपाने और अपना अस्तित्व बचाने के लिए किया गया है. पाण्डेय ने कहा था, 'यह एक गुनाहबंधन है, जो एक-दूसरे के गुनाहों को ढंकने, छिपाने और अस्तित्व बचाने के लिए किया गया है.' उन्होंने कहा कि यह गठबंधन उत्तर प्रदेश को कुशासन, अपराध और भ्रष्टाचार में झोंकने वाले अवसरवादी दलों का गठबंधन है. उन्होंने कहा कि बसपा प्रमुख मायावती ने आज ही ईवीम पर सवाल उठा कर अपनी हार स्वीकार कर ली.

चाचा शिवपाल का भतीजे पर हमला: मायावती न नेता जी की और न मेरी बहन, फिर अखिलेश की बुआ कैसे?

पाण्डेय ने सपा-बसपा को चुनौती देते हुए कहा था, ‘हमारे पास मोदी जैसा नेतृत्व है, दुनिया की किसी भी प्रणाली से चुनाव करा दिया जाए, उत्तर प्रदेश में गठबंधन की हार तय है.' उन्होंने सपा प्रमुख अखिलेश यादव द्वारा भाजपा पर मायावती का अपमान करने का आरोप लगाए जाने को हास्यास्पद बताते हुए कहा था, ‘ क्या गेस्ट हाउस कांड में शामिल सपा नेताओं को अखिलेश अपनी पार्टी से निकालेंगे?' 

मायावती के बाद अब अखिलेश यादव भी PM की रेस में? लखनऊ में लगे पोस्टर: 'चाहिए देश को नया पीएम'

पाण्डेय ने कहा था कि मायावती ने सपा से हाथ मिला कर कांशीराम की विरासत और दलितों के विश्वास का सौदा किया है. उन्होंने कहा कि गठबंधन में एक दल (बसपा) एनआरएचएम, स्मारक, चीनी मिल के भ्रष्टाचार का गुनाहगार है, तो वहीं दूसरा दल (सपा) रिवरफ्रन्ट, यूपी पीएससी भर्ती व खनन घोटाले का गुनहगार है. पाण्डेय ने दावा किया था कि आगामी लोकसभा चुनावों में सपा-बसपा गठबंधन कहीं नहीं टिकेगा.

(इनपुट- एएनआई)

BJP सांसद बोले- लोकसभा चुनाव हमारे लिए होगा संघर्ष, सपा-बसपा गठबंधन की वजह से कड़ी होगी लड़ाई

VIDEO- 'जब नेताजी ने मायावती को बहन नहीं बनाया तो अखिलेश की बुआ कैसे'

 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com