NDTV Khabar

योग महोत्सव में बोले योगी - अमित शाह ने एक दिन पहले ही बता दिया था - यूपी आपके जिम्मे

268 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
योग महोत्सव में बोले योगी  - अमित शाह ने एक दिन पहले ही बता दिया था - यूपी आपके जिम्मे

उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि नमाज़ और सूर्य नमस्कार में बहुत समानताएं
  2. कहा - मोदी ने मुझे पूरा यूपी दे दिया जिसकी उम्मीदों पर पूरा उतरना है
  3. कहा - जब मुझे यूपी का राज मिला तब मेरे पास सिर्फ़ एक जोड़ी कपड़े थे
लखनऊ: उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि नमाज़ और सूर्य नमस्कार में बहुत समानताएं हैं लेकिन सियासत दोनों को जोड़ने नहीं देती. योगी लखनऊ में चल रहे बाबा रामदेव के योग महोत्सव में बोल रहे थे. योगी ने कहा कि जिस दौर में लोग साधुओं को भीख नहीं देते मोदी ने मुझे पूरा यूपी दे दिया जिसकी उम्मीदों पर पूरा उतरना है. दो योगी साथ आए. मंच पर गले मिले. मौक़ा था लखनऊ में चलने वाले पतंजलि योग पीठ के योग महोत्सव का. बात योग की चली तो सीएम योगी ने सूर्या नमस्कार का ज़िक्र किया और उस पर सियासत का भी.
 
हम सूर्या नमस्कार करते हैं. सूर्या नमस्कार में हुमारे जितने आसान आते हैं, जितनी मुद्रायें आती हैं, उसमें जो बंद आ सकते हैं, उसमें प्राणायाम की जो क्रियाए हैं उन सब को हम अगर देख लें तो हुमारे मुस्लिम बंधु जो नमाज़ पढ़ते हैं, आप देखते होंगे की उससे मिलते जुलते हैं. एक दूसरे के साथ कितना बेहतर समन्वय है लेकिन कभी उसको जोड़ने का प्रयास नहीं किया है. योगी ने कहा कि आज जुब साधु को लोग भीख नहीं देते उन्हें पूरा उत्तर प्रदेश मिल गया है. उन्होने बताया कि जब उन्हें यूपी का राज मिला तब उनके पास पहनने के लिए सिर्फ़ एक जोड़ा कपड़ा था.

जुब मुझे मेरी पार्टी ने और हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि आपको उत्तर प्रदेश जाना है तो मैंने कहा कि मैं तो उत्तर प्रदेश से ही आ रहा हूं. तो उन्होंने कहा - नहीं-नहीं, उत्तर प्रदेश में आपको कल ही मुख्यमंत्री का शपथ लेना है. मैं आपको आश्चर्या करूंगा कि उस समय मेरे पास केवल एक जोड़ी कपड़े थे. बाबा रामदेव ने महोत्सव के अलग-अलग सेशन्स में योग के मह्त्व पर रोशनी डाली.

योग शारीरिक व्यायाम भी है, आसान भी है. प्राणायाम भी है और ध्यान भी है लेकिन योग के द्वारा एक विराट चरित्र हमारा जो तैयार होता है, हम नर से नारायण और जीव से जो ब्रह्म बनते हैं तो उससे योगी जैसा धवल चरित्रा, महान चरित्र. रामदेव ने कहा कि देश में बहुत दिनों बाद योग को इतना महत्व मिला है. देश की आज़ादी के 70 सालों के इतिहास में पहली बार बड़े रूप में योग और योगी गौरवान्वित हुए हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement