यूपी निकाय चुनाव नतीजे: 'आप' ने भी बढ़ाई पैठ, नगर पंचायत अध्यक्ष की 1 सीट सहित कई जगहों पर किया कब्जा

लोकसभा चुनाव में हार के बाद आम आदमी पार्टी ने विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने का फैसला लिया था लेकिन निकाय चुनाव के साथ आप ने यूपी में वापसी की है. निकाय चुनाव के शुरुआती कुछ परिणामों में वह कई जगह बढ़त बनाए हुए हैं तो कई सीटों पर चुनाव भी जीते हैं.

यूपी निकाय चुनाव नतीजे: 'आप' ने भी बढ़ाई पैठ, नगर पंचायत अध्यक्ष की 1 सीट सहित कई जगहों पर किया कब्जा

यूपी के निकाय चुनाव मेंं आम आदमी पार्टी ने खोला खाता (फाइल फोटो)

लखनऊ:

लोकसभा चुनाव में हार के बाद आम आदमी पार्टी ने विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने का फैसला लिया था लेकिन यूपी निकाय चुनाव के साथ आप ने यूपी में वापसी की है. निकाय चुनाव के  अब तक आए परिणाणों के मुताबिक आम आदमी पार्टी ने ठीक-ठाक प्रदर्शन किया है. 

यूपी निकाय चुनाव : योगी-मोदी, माया-अखिलेश और सोनिया-राहुल की साख है दांव पर, गुजरात तक पड़ सकता है असर

चार बजे तक के नतीजों में आम आदमी पार्टी ने नगर निगम पार्षद की दो, नगर पंचायत अध्यक्ष की एक, नगर पंचायत सदस्य की 14 और नगर पालिका परिषद सदस्‍य की छह सीटों पर दर्ज की है. वहीं बहुजन समाजवादी पार्टी ने नगर निगम पार्षद की 122, मेयर की एक, नगर पालिका परिषद सदस्‍य की 122 और नगर पंचायत परिषद की 165 सीटों पर चुनाव जीता है.

मोदी हार सकते हैं लेकिन क्‍या राहुल गांधी की सही में जीत होगी?

चार बजे तक की मतगणना के अनुसार, बीजेपी ने मेयर के सात, नगर निगम पार्षद 449, नगर पालिका परिषद अध्‍यक्ष के 17, नगर पालिका परिषद 408, नगर पंचायत अध्‍यक्ष 50 और नगर पंचायत सदस्‍य की 471 सीटों पर जीत हासिल कर चुकी है. कांग्रेस ने नगर निगम पार्षद के 76, नगर पालिका परिषद सदस्‍य की 62 और नगर पंचायत सदस्‍य की 86 सीटों पर जीत मिली है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: यूपी निकाय चुनाव की मतगणना, सीएम योगी की परीक्षा की घड़ी

यूपी में 22, 26 और 29 नवंबर को वोटिंग हुई. इस चुनाव में 16 नगर निगम 198 नगर पालिका और 438 नगर पंचायत के लिए वोट डाले गए थे. यूपी निकाय चुनाव के नतीजों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की साख से जोड़कर देखा जा रहा है. उन्होंने इन चुनावों में प्रचार की शुरुआत 14 नवंबर को अयोध्या से की थी, एक महीने में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 26 रैलियां कीं, इस दौरान वो सभी 16 ज़िलों में गए जहां नगर निगम चुनाव हुए. 2012 में मेयर चुनाव में बीजेपी ने 12 में से 10 सीटें जीती थीं.