NDTV Khabar

शहरी निकाय चुनाव के दूसरे चरण के आखिरी दिन उम्मीदवारों ने झोंकी पूरी ताकत, प्रचार थमा

उत्तर प्रदेश शहरी निकाय चुनाव के दूसरे चरण का जोर-शोर से चला प्रचार-प्रसार शुक्रवार की शाम थम गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शहरी निकाय चुनाव के दूसरे चरण के आखिरी दिन उम्मीदवारों ने झोंकी पूरी ताकत, प्रचार थमा

शहरी निकाय चुनाव के दूसरे चरण का प्रचार थमा

खास बातें

  1. शहरी निकाय चुनाव के दूसरे चरण का प्रचार थमा.
  2. शहरी निकाय चुनाव के दूसरे चरण का मतदान 26 नवंबर को
  3. शिवानी सिंह सोलंकी भी भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं.
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश शहरी निकाय चुनाव के दूसरे चरण का जोर-शोर से चला प्रचार-प्रसार शुक्रवार की शाम थम गया. चुनाव प्रचार के आखिरी दिन यानी शुक्रवार को उम्मीदवारों ने वोटर्स को अपने पक्ष में करने के लिए एड़ी-चोटी की ताकत लगा दी. बता दें कि कि दूसरे चरण का मतदान 26 नवंबर को होना है और इस चरण में 25 जिलों में निकाय चुनावों के लिए मतदान होगा. इसी चरण में गाजियाबाद के वैशाली में वार्ड नं 76 से शिवानी सिंह सोलंकी भी भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं. 
 

civic poll

दूसरे चरण में जिन जिलों में मतदान होने हैं उनमें मुजफ्फरनगर, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, अमरोहा, रामपुर, पीलीभीत, शाहजहांपुर, अलीगढ़, मथुरा, मैनपुरी, फर्रूखाबाद, इटावा, ललितपुर, बांदा, इलाहाबाद, लखनऊ, सुलतानपुर, अंबेडकर नगर, बहराइच, श्रावस्ती, सन्त कबीरनगर, देवरिया, बलिया, वाराणसी एवं भदोही जिले शामिल हैं.

यह भी पढ़ें - यूपी नगर निकाय चुनाव में बनेगा इतिहास, सौ साल में पहली बार लखनऊ चुनेगा महिला मेयर


मतदान को संपन्न कराने के लिए अधिकारियों ने कमर कस ली है. राज्य निर्वाचन आयुक्त एस के अग्रवाल ने संबंधित जिलों के जिलाधिकारी, जिला निर्वाचन अधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एवं पुलिस अधीक्षकों सहित मतदान के लिए नियुक्त प्रेक्षकों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संपर्क कर चुनाव की तैयारियों की समीक्षा की. समीक्षा के दौरान केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बलों, पीएसी और सिविल पुलिस की तैनाती पर चर्चा हुई. जिलों में ड्रोन कैमरों की उपलब्धता को लेकर बातचीत हुई.

यह भी पढ़ें - UP निकाय चुनाव: योगी आदित्‍यनाथ ने वोट डालने के बाद कहा, विपक्ष किसी भी कीमत पर नहीं जीत पाएगा

इस बार ये निकाय चुनाव हर भाजपा, सपा और बसपा सहित अन्य पार्टियों के लिए भी काफी अहम है. क्योंकि पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा ने शानदार जीत हासिल की थी और योगी आदित्यनाथ के सिर सीएम का सेहरा बंधा था. इस बार निकाय चुनाव में भाजपा की जीत की कमान खुद सीएम योगी ने संभाल रखी है और ये जीत उनके और उनकी पार्टी के लिए भी काफी अहम है. वहीं, इस चुनाव के जरिये समाजवादी पार्टी, कांग्रेस और बहुजन समाजवादी पार्टी अपनी खोई जमीन तलाशने की जुगत में हैं. यही वजह है कि इस चुनाव को भाजपा, सपा, कांग्रेस और बसपा सभी गंभीरता से ले रहे हैं. 

यह भी पढ़ें - यूपी निकाय चुनाव का पहला दौर शांतिपूर्वक संपन्न, जानें विभिन्न जिलों में वोटिंग का प्रतिशत

निकाय चुनाव में भाजपा की ओर से सीएम योगी के अलावा दोनों उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य एवं दिनेश शर्मा, सरकार के मंत्री, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय सहित पार्टी के सभी नेता व्यापक प्रचार कर रहे हैं. वहीं, समाजवादी पार्टी और बसपा ने चुनाव प्रचार की कमान अपने दूसरे रैंक के नेताओं के हाथ में दी हुई है. हालांकि, कांग्रेस ने इस चुनावी मैदान में अपने तीन कद्दावर नेता नेता गुलाम नबी आजाद और राज बब्बर तथा सांसद प्रमोद तिवारी को प्रचार के सिए उतारा है. 

टिप्पणियां

VIDEO: स्थानीय निकाय चुनाव के प्रचार के दौरान BJP नेता ने दी धमकी
(इनपुट भाषा से)

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement