UP के CM योगी अधिकारियों से बोले- कोविड संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए हर स्तर पर सावधानी जरूरी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में कंटेनमेंट ज़ोन्स में प्रतिबंधों को सख्ती से लागू करने का निर्देश देते हुए शुक्रवार को कहा कि कोरोनावायरस संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए हर स्तर पर सावधानी जरूरी है.

UP के CM योगी अधिकारियों से बोले- कोविड संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए हर स्तर पर सावधानी जरूरी

सीएम योगी ने यूपी में कंटेनमेंट ज़ोन्स में प्रतिबंधों को सख्ती से लागू करने के निर्देश दिए. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • सीएम योगी का संक्रमण की चेन तोड़ने पर जोर
  • कंटेनमेंट ज़ोन्स में प्रतिबंधों का सख्ती से पालन के निर्देश
  • कहा- लोगों को जरूरी चीजें उपलब्ध कराते रहें
लखनऊ:

Uttar Pradesh Coronavirus Updates: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) ने राज्य में कंटेनमेंट ज़ोन्स में प्रतिबंधों को सख्ती से लागू करने का निर्देश देते हुए शुक्रवार को कहा कि कोरोनावायरस संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए हर स्तर पर सावधानी जरूरी है. योगी ने कहा, 'कंटेनमेंट ज़ोन्स में प्रतिबंधों को सख्ती से लागू किया जाए, लेकिन साथ ही सुनिश्चित किया जाए कि वहां रहने वालों को आवश्यक सामग्री की उपलब्धता में कोई असुविधा न हो.' राज्य मुख्यालय स्थित ''समेकित कमान और नियंत्रण केंद्र' में चिकित्सा शिक्षा विभाग के विशेष सचिव स्तर के अधिकारी को तैनात करने का निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि इससे यह केंद्र और अच्छा काम कर सकेगा.

योगी ने कहा कि अनलॉक-3.0 के संबंध में भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के क्रम में प्रदेश शासन के निर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जाए. उन्होंने कंटेनमेंट ज़ोन्स के बाहर जिन गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति दी गई है, उन्हें निर्धारित दिशा-निर्देशों के अनुरूप संचालित कराए जाने के निर्देश दिए. मुख्यमंत्री अपने सरकारी आवास पर बुलाए गए एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक-3.0 की समीक्षा कर रहे थे.

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश: गाड़ी चलाते वक्त मोबाइल फोन का किया इस्तेमाल तो भरना पड़ेगा 10 हजार का जुर्माना

मुख्यमंत्री ने कहा, 'कोरोनावायरस संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रत्येक स्तर पर पूरी सावधानी और सतर्कता आवश्यक है. इसलिए लोगों को संक्रमण से बचाव के सम्बन्ध में निरंतर जागरूक किया जाए.' उन्होंने कहा कि जागरूकता अभियान में मास्क के अनिवार्य उपयोग और दो गज की दूरी को बनाए रखने के संबंध में आम जन को जानकारी जरूर दी जाए. अधिक से अधिक लोगों को आरोग्य सेतु ऐप और आयुष कवच कोविड ऐप डाउनलोड करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए.

मुख्यमंत्री ने 1.15 लाख कोविड-19 टेस्ट प्रतिदिन करने पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा, ‘डोर टू डोर सर्वे' और 'कांटैक्ट ट्रेसिंग' के काम को तत्परता से किया जाए. सुनिश्चित किया जाए कि इनमें कोई लापरवाही ना हो. संक्रमित व्यक्ति को चिह्नित कर समय पर उसे अस्पताल भेजकर उसका इलाज सुनिश्चित किया जाए.' उन्होंने कहा कि अतिरिक्त एम्बुलेंस की व्यवस्था के लिए CSR निधि (Corporate Social Responsibility) का उपयोग किया जाए. एम्बुलेंस कर्मियों को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए उनका प्रशिक्षण कार्यक्रम निरंतर जारी रखा जाए.

यह भी पढ़ें: 'कोई ध्यान नहीं दे रहा, मुझे दूसरे अस्पताल ले चलो' कोविड मरीज की मौत के बाद VIDEO आया सामने

योगी ने बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में प्रभावित लोगों को हरसम्भव राहत और मदद उपलब्ध कराने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा, ‘प्रभावित जनता को राहत सामग्री उपलब्ध कराने के साथ-साथ उनके लिए समुचित चिकित्सीय प्रबन्ध भी किए जाएं. पशुओं के लिए चारे की व्यवस्था की जाए. राहत कार्यों के लिए जरूरत के हिसाब से अतिरिक्त नावों की व्यवस्था भी की जाए.' उन्होंने गौ आश्रय स्थल में गोवंश के लिए हरे चारे की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए.

Video: राम जन्मभूमि मंदिर के पुजारी प्रदीप दास कोरोना पॉजिटिव

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)