NDTV Khabar

सोनभद्र हत्याकांड के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस को ठहराया जिम्मेदार, कहा- 1955 में ही...

योगी ने लखनऊ में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस घटना की नींव 1955 में ही पड़ गई थी, जब कांग्रेस की सरकार थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सोनभद्र हत्याकांड के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस को ठहराया जिम्मेदार, कहा- 1955 में ही...

सोनभद्र हत्याकांड के लिए कांग्रेस जिम्मेदार : योगी

खास बातें

  1. सोनभद्र घटना के लिए सीएम योगी ने कांग्रेस को जिम्मेदाया ठहराया
  2. कहा- 1955 और 1989 की कांग्रेस सरकार दोषी है
  3. घटना में 10 लोगों की हुई थी मौत, दो दर्जन से अधिक घायल
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को सोनभद्र हत्याकांड के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया. योगी ने लखनऊ में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस घटना की नींव 1955 में ही पड़ गई थी, जब कांग्रेस की सरकार थी. योगी के मुताबिक सोनभद्र के विवाद के लिए 1955 और 1989 की कांग्रेस सरकार दोषी है. उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायत की जमीन को 1955 में आदर्श सोसाइटी के नाम पर दर्ज किया गया था. इस जमीन पर वनवासी समुदाय के लोग खेती-बाड़ी करते थे. बाद में इस जमीन को किसी व्यक्ति के नाम 1989 में कर दिया गया. 1955 में कांग्रेस की सरकार थी. योगी आदित्यनाथ ने कहा, "मैंने खुद डीजीपी को निर्देश दिया है कि वो व्यक्तिगत रूप से इस मामले पर नजर रखें. इस जमीन पर काफी समय से विवाद था और एक कमेटी इस मामले की जांच साल 1952 से करेगी." उन्होंने कहा कि एसडीएम घोरावल, सीओ घोरावल, एसओ घोरावल सहित हल्का और बीट के सभी सिपाही निलंबित कर दिए गए हैं. साथ ही इस जमीनी विवाद की जांच अपर मुख्य सचिव राजस्व को सौंप दी गई है. 

सोनभद्र नरसंहार: मृतकों के परिजनों से मिलने जा रहीं प्रियंका गांधी को हिरासत में लिया गया, बोलीं- जहां भी ले जाएंगे, वहां जाऊंगी


उन्होंने कहा, "इम मामले में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई हो रही है." उन्होंने कहा, "दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. सोनभद्र में हुई हत्या की जांच कमिटी करेगी. जो भी दोषी हैं, उनको छोड़ा नहीं जाएगा. मामले से संबंधित मुख्य आरोपी सहित 27 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. जांच के बाद जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी."

सोनभद्र नरसंहार का आंखों देखा हाल: 32 ट्रैक्टरों पर आए थे 200 लोग, आधे घंटे लगातार गोलियां बरसाकर बिछा दीं 10 लाशें

गौरतलब है कि बुधवार को गांव प्रधान यज्ञदत्त ट्रैक्टर ट्रॉली में भरकर करीब 200 लोगों को लेकर घोरावल थाना इलाके के उम्भा गांव पहुंचे. उन लोगों के पास गंड़ासे और अवैध तमंचे थे. प्रधान ट्रैक्टरों से खेत की जबरन जुताई करवाने लगा. इस पर ग्रामीणों ने विरोध किया तो प्रधान के समर्थकों ने उन पर हमला कर दिया. इस दौरान 10 लोगों की मौत हो गई थी और 2 दर्जन से अधिक लोग घायल हैं. 

टिप्पणियां

इनपुट- IANS

Video: सोनभद्र नरसंहार में मृतकों के परिजनों से मिलने जा रहीं प्रियंका गांधी को हिरासत में लिया गया



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement