NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश : बच्चों को स्वेटर बांटकर आखिरकार मंत्री अनुपमा जायसवाल ने पहन ही लिया स्वेटर

मंत्री का दावा है कि प्रदेश के प्राथमिक स्कूलों में करीब 65 लाख बच्चों को स्वेटर दिये जा चुके हैं और एक सप्ताह के अंदर प्रदेश के सभी एक करोड़ 54 लाख बच्चों को स्वेटर पहुंचाने का लक्ष्य पूरा हो जाएगा. स्वेटर वितरण कार्य शुरू होने के बाद उन्होंने इस सर्दी में पहली बार स्वेटर पहना.

350 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश : बच्चों को स्वेटर बांटकर आखिरकार मंत्री अनुपमा जायसवाल ने पहन ही लिया स्वेटर

बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल (फाइल फोटो)

बहराइच:

उत्तर प्रदेश के स्कूलों में बच्चों को स्वेटर बांटने से पहले खुद इसे ना पहनने का प्रण लेने वाली सूबे की बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल ने छात्र-छात्राओं में इसका वितरण का सिलसिला शुरू होने के बाद आखिरकार स्वेटर पहन लिया. अनुपमा ने बताया कि विभागीय मुखिया होने के नाते बच्चों को स्वेटर बांटे जाने से पहले मैंने स्वेटर ना पहनने का संकल्प लिया था. इस दौरान दिसम्बर में वह बिना स्वेटर काठमांडो स्थित बाबा पशुपतिनाथ और एक जनवरी को मां वैष्णो देवी का दर्शन करने भी गयीं थी.

थाने में शराब की बोतल देख भडकीं बेसिक शिक्षा मंत्री , दिए जांच के आदेश

मंत्री का दावा है कि प्रदेश के प्राथमिक स्कूलों में करीब 65 लाख बच्चों को स्वेटर दिये जा चुके हैं और एक सप्ताह के अंदर प्रदेश के सभी एक करोड़ 54 लाख बच्चों को स्वेटर पहुंचाने का लक्ष्य पूरा हो जाएगा. स्वेटर वितरण कार्य शुरू होने के बाद उन्होंने इस सर्दी में पहली बार स्वेटर पहना.


मालूम हो कि प्राथमिक स्कूलों में बच्चों को स्वेटर नहीं बंटने को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्विटर पर मंत्री पर तंज किया था. इसके जवाब में अनुपमा ने प्रण किया था कि वह बच्चों को स्वेटर का वितरण शुरू होने से पहले स्वेटर नहीं पहनेंगी. अखिलेश ने लिखा था कि सरकार बार-बार स्वेटर के टेंडर निरस्त कर रही है और स्कूल के बच्चे सरकार की तरफ से दिए जाने वाले स्वेटर का इंतजार! कहीं ऐसा ना हो कि इधर बच्चे झूठी उम्मीदों की आग तापते ही रह जाएं और उधर टेंडर की प्रक्रिया पूरी होते-होते मई-जून आ जाए.

VIDEO- यूपी के कासगंज में फिर भड़की हिंसा, उपद्रवियों ने दो दुकानों में लगाई आग

टिप्पणियां


मंत्री ने बताया कि कुछ तकनीकी तथा व्यवहारिक कारणों से स्वेटर विवरण में देर हुयी थी. सरकार ने जब स्वेटर वितरण का फैसला लिया तब लुधियाना स्थित गर्म कपड़ो की फैक्ट्रियों में उत्पादन बंद हो चुका था. किसी तरह फैक्ट्री मालिकों को दोबारा उत्पादन के लिए तैयार किया गया.


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement