NDTV Khabar

फर्रुखाबाद : सरकारी हॉस्पिटल में 1 महीने में 49 बच्चों की मौत, DM, CMO, CMS हटाए गए

मृत बच्चों के रिश्तेदारों का कहना है कि अस्पताल में ऑक्सीजन और दवा की कमी की वजह से बच्चों की मौत हुई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
फर्रुखाबाद : सरकारी हॉस्पिटल में 1 महीने में 49 बच्चों की मौत, DM, CMO, CMS हटाए गए

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. यूपी के फर्रुखाबाद में 30 बच्चों की 1 महीने में मौत हो गई
  2. डॉक्टर राम मनोहर लोहिया ज़िला अस्पताल में हुई कुल 49 मौतें
  3. 19 बच्चे मृत पैदा हुए थे
फर्रुखाबाद: यूपी से बच्चों की मौत के मामले एक के बाद एक आते ही जा रहे हैं. पहले गोरखपुर और अब फर्रुखाबाद से यह बुरी खबर आई है. यूपी के फर्रुखाबाद में डॉक्टर राम मनोहर लोहिया ज़िला अस्पताल में एक महीने में 30 बच्चों की मौत के बाद डीएम ने तीन डॉक्टरों के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज करवाई है. हालांकि अस्पताल में पिछले एक महीने में कुल 49 बच्चों की मौत हुई है जिनमें 19 बच्चे मृत पैदा हुए थे. इसके बाद DM, CMO और CMS हटा दिए गए हैं.

पढ़ें-  गोरखपुर हादसा : डॉक्टर कफील को भी एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

मृत बच्चों के रिश्तेदारों का कहना है कि अस्पताल में ऑक्सीजन और दवा की कमी की वजह से बच्चों की मौत हुई है. इस मामले के चर्चा में आने के बाद जिलाधिकारी रबिन्द्र कुमार ने मामले पर तुरंत पैनल के द्वारा जाच करने का आदेश जारी कर दिया था जिसकी जांच जिले के सदर एस डी एम सिटी मजिस्ट्रे तहसीलदार सदर कर रहे थे.

पढ़ें-  क्या बच्चों का सही तरीके से इलाज नहीं होता है? रवीश कुमार के साथ प्राइम टाइम

जांच प्रक्रिया को 3 दिनों के अन्दर सामने आने के बाद जांच में बड़ा खुलासा हुआ और जांच अधिकारी सिटी मजिस्ट्रेट ने कोतवाली सदर में जाच के दौरान दोषी पाए गए सीएमओ, सीएमएस जिला अस्पताल लोहिया और अन्य डॉक्टर के खिलाफ केस रजिस्टर करवा दिया गया है. 

जांच के दौरान जांच अधिकारियों ने मौतों की जांच की तो पता चला कि ज्यादातर मौतें ऑक्सीजन की कमी और दवाओं की कमी से हुई हैं. इस पूरे मामले पर 176, 188, 304 जैसी संगीन धाराओ में केस दर्ज किया गया है. ​बता दें कि गोरखपुर के बीआरडी कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से 30 बच्चों की मौत के मामले में हाल ही में डॉक्टर कफील को भी गिरफ्तार किया गया है

टिप्पणियां
वीडियो- गोरखपुर हादसा- डॉ कफील गिरफ्तार


बीआरडी कॉलेज में 100 बेड वार्ड के इंचार्ज डॉक्टर कफील को यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर से गिरफ्तार किया. उनके खिलाफ लखनऊ के हजरतगंज थाने में आईपीसी की धारा 409, 308, 120 बी, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के सेक्शन 8, इंडियन मेडिकल काउंसिल एक्ट 1956 के सेक्शन 15, सूचना तकनीकी अधिनियम सन 2000 के सेक्शन 66 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था. तब से वह फरार चल रहे थे. उनके ऊपर बच्चों की मौत में गैरजिम्मेदारी बरतने, निजी प्रैक्टिस न करने का झूठा हलफानामा देने गबन करने और साजिश के आरोप हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement