NDTV Khabar

आखिर क्‍यों स्कूल के सारे बच्चों को मारना चाहती थी ये 13 साल की बच्‍ची, जानें वजह

यूपी के देवरिया जिले के एक जूनियर हाईस्कूल में बांटे गए मिड डे मील की दाल में कथित रूप से जहरीला पदार्थ मिलाने के आरोप में पुलिस ने कक्षा सात की एक छात्रा को गिरफ्तार किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आखिर क्‍यों स्कूल के सारे बच्चों को मारना चाहती थी ये 13 साल की बच्‍ची, जानें वजह

यूपी देवरिया के एक स्कूल में पढ़ने वाली 13 साल की बच्ची मिड डे मील में ज़हर मिलाने के आरोप में जेल चली गई है

खास बातें

  1. 13 साल की बच्ची मिड डे मील में ज़हर मिलाने के आरोप में जेल चली गई है
  2. बच्ची के छोटे भाई की दूसरे बच्चे के ईंट मार देने से मौत हो गई थी
  3. भाई की मौत का बदला लेने के लिए स्कूल के सारे बच्चों को मारना चाहती थी
लखनऊ: यूपी देवरिया के एक स्कूल में पढ़ने वाली 13 साल की बच्ची मिड डे मील में ज़हर मिलाने के आरोप में जेल चली गई है. बच्ची के छोटे भाई की इसी स्कूल में एक दूसरे बच्चे के ईंट मार देने से मौत हो गई है. इल्ज़ाम है कि बच्ची भाई की मौत का बदला लेने के लिए स्कूल के सारे बच्चों को मारना चाहती थी, लेकिन बच्ची का कहना है कि उसे फंसाया जा रहा है. 

दिल्ली के नरेला में सरकारी स्कूल में मिड डे मील खाने से 26 बच्चे बीमार पड़े

बताया जा रहा है कि देवरिया जिले के एक जूनियर हाईस्कूल में बांटे गए मिड डे मील की दाल में कथित रूप से जहरीला पदार्थ मिलाने के आरोप में पुलिस ने कक्षा सात की एक छात्रा को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बताया कि देवरिया के बनकठा पुलिस स्टेशन के बौलिया गांव में सरकारी जूनियर हाईस्कूल के प्रधानाचार्य की शिकायत पर यह मामला दर्ज किया गया है. बनकठा पुलिस स्टेशन के थाना प्रभारी देवेंद्र सिंह यादव ने बताया कि बौलिया जूनियर हाईस्कल की छात्रा के खिलाफ विभिन्न धाराओं में आपराधिक मुकदमा दर्ज किया गया है. छात्रा को बाल सुधार गृह भेजे जाने की तैयारी की जा रही है. 

पटना : स्कूल में बन रहा था मिड डे मील, खौलती दाल में गिरने से रसोइये के 4 साल के बेटे की दर्दनाक मौत
 
ufmo0m5o

यादव ने बताया कि कक्षा सात की छात्रा ने मिड डे मील में जहरीला पदार्थ इस लिये मिलाया था क्योंकि वह अपने भाई की मौत का बदला लेना चाहती थी. कक्षा तीन में पढ़ने वाले उसके भाई की दो अप्रैल को स्कूल के ही कक्षा पांच के एक छात्र ने हत्या कर दी थी. हत्या करने वाला छात्र इस समय बाल सुधार गृह में है. अपने भाई की हत्या का बदला लेने के लिये छात्रा ने मिड डे मील में जहर मिलाकर सब लोगों को मारने का प्रयास किया था. हालांकि इस मध्याह्न भोजन को खाकर स्कूल का कोई छात्र बीमार नहीं हुआ था क्योंकि स्कूल प्रशासन ने बच्चों को मिड डे मिल खाने से रोक दिया था. 

रिटायरमेंट से एक दिन पहले हेडमास्‍टर ने की स्‍कूल में आग लगाकर आत्महत्या, पढ़ें क्‍या थी वजह

टिप्पणियां
पुलिस ने बताया कि मंगलवार को करीब साढ़े दस बजे स्कूल की रसोइया राधिका जब बच्चों को चावल देने जा रही थी तब उसने देखा कि आरोपी छात्रा रसोई में गयी. उसने देखा कि छात्रा के हाथ में सफेद रंग का पाउडर था और बच्चों को जो सब्जी मिली हुई दाल परोसी जाने वाली थी उसमें भी कुछ सफेद रंग का पाउडर पडा हुआ था. उसने दूसरे रसोईये की मदद से छात्रा को रसाईघर में बंद कर दिया और स्कूल के ​प्रिंसिपल भृगनाथ प्रसाद को इसकी सूचना दी. इस सूचना के बाद खाद्य विभाग, शिक्षा विभाग की टीम स्कूल पहुंची और दाल के नमूने परीक्षण के लिये प्रयोगशाला भेज दिये गये है, जहां से रिपोर्ट आने में तीन से चार दिन का समय लग सकता है. 

VIDEO: हरदा जिले में मिड डे मील में निकले कीड़े
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement