यूपी सरकार ने गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर मामले में रिटायर्ड जज की निगरानी में बिठाई जांच कमेटी

गैंगस्टर विकास दुबे (Vikas Dubey) एनकाउंटर मामले में उत्तर प्रदेश सरकार ने एक सदस्यीय न्यायिक कमेटी का गठन किया है. रिटायर्ड जज इस मामले की जांच करेंगे.

यूपी सरकार ने गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर मामले में रिटायर्ड जज की निगरानी में बिठाई जांच कमेटी

UP एसटीएफ ने विकास दुबे को एनकाउंटर में मार गिराया. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • एनकाउंटर की जांच के लिए बनाई कमेटी
  • रिटायर्ड जस्टिस शशीकांत अग्रवाल करेंगे जांच
  • यूपी STF ने किया था विकास दुबे का एनकाउंटर
लखनऊ:

गैंगस्टर विकास दुबे (Vikas Dubey) एनकाउंटर मामले में उत्तर प्रदेश सरकार (UP Govt) ने एक सदस्यीय न्यायिक कमेटी का गठन किया है. रिटायर्ड जज इस मामले की जांच करेंगे. वह दो महीने मे जांच रिपोर्ट सरकार को सौंपेंगे. कानपुर बिकरु कांड और 3 जुलाई से 10 जुलाई के बीच हुए संबंधित सभी एनकाउंटर की जांच के लिए यह आयोग गठित किया गया है. जस्टिस शशीकांत अग्रवाल की अध्यक्षता में एकल सदस्यीय आयोग का गठन किया गया है.

योगी सरकार ने बीते दिन विकास दुबे से जुड़े अन्य मामलों में SIT का गठन किया है. SIT विकास दुबे के अपराध की दुनिया में पनपे कद की जांच करेगी. SIT जांच करेगी कि विकास दुबे पर कौन-कौन से मुकदमे दर्ज थे. पुलिस व प्रशासन में बैठे किन लोगों ने उसकी मदद की और उसके खिलाफ कार्रवाई करने से बचते रहे. इसी कड़ी में आज (रविवार) SIT की टीम बिकरु गांव पहुंची. डीएम, एडीजी और एसएसपी सहित सभी आला अधिकारी गांव पहुंचे. अधिकारियों ने बताया कि विकास दुबे की संपत्तियों की जांच होगी. 

SIT इन बातों की जांच करेगी कि विकास दुबे पर जितने मुकदमे दर्ज हैं उनमें क्या कार्रवाई हुई. क्या यह कार्रवाई उसे सजा दिलाने के लिए काफी थी. इसकी जमानत रद्द कराने के लिए क्या कार्रवाई की गई. विकास दुबे के खिलाफ जनता की कितनी शिकायतें आईं. जनता की शिकायतों की किन-किन अधिकारियों ने जांच की और उसका नतीजा क्या रहा. पिछले एक साल में उसके संपर्क में कितने पुलिस वाले आए और उनमें से कितनों की उससे मिलीभगत थी. विकास दुबे पर गैंगस्टर एक्ट, गुंडा एक्ट और एनएसए लगाने में किन अफसरों ने लापरवाही बरती. विकास और उसकी गैंग के पास मौजूद हथियारों की जानकारी पुलिस को क्यों नहीं थी.

टीम इस बात की भी जांच करेगी कि  इसके लिए कौन जिम्मेदार है. विकास और उसके साथियों को इतने अपराध के बावजूद किन अफसरों ने हथियार के लाइसेंस दिए. लगातार अपराध करने के बाद उसके लाइसेंस किसने रद्द नहीं किए. विकास और उसके साथियों ने गैरकानूनी ढंग से कितनी जायजाद बनाई है. विकास और उसके साथियों को गैरकानूनी ढंग से जायजाद बनाने देने में कौन अफसर शामिल हैं. क्या विकास और उसके साथियों ने सरकारी जमीन पर क़ब्ज़ा किया है. अगर विकास और उसके साथियों ने सरकारी जमीन पर कब्जा किया है तो कब्जा होने देने और कब्जा खाली न करवाने के लिए कौन अफसर जिम्मेदार हैं.


VIDEO: विकास दुबे के साथ उसके राज भी मारे गए

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com