डॉ अंबेडकर के नाम में बदलाव पर बीजेपी की सांसद सावित्री बाई फुले हुईं नाराज

योगी सरकार के फैसले से गुस्से में बहराइच की सांसद, कहा- बाबा साहब के नाम में कोई फेरबदल नहीं होना चाहिए

डॉ अंबेडकर के नाम में बदलाव पर बीजेपी की सांसद सावित्री बाई फुले हुईं नाराज

सांसद सावित्री बाई फुले (फाइल फोटो).

खास बातें

  • भारतीय संविधान आरक्षण बचाओ आंदोलन के तहत लखनऊ में रैली करेंगी
  • सरकार ने नाम डॉ भीमराव अंबेडकर की जगह डॉ भीम रामजी अंबेडकर किया
  • सरकार का तर्क- हर मराठी अपने नाम के साथ आपने पिता का नाम लगाता है
नई दिल्ली:

अनुसूचित जाति और जनजाति कानून को लेकर सर्वोच्च न्यायालय में केंद्र के रुख की आलोचना कर चुकीं बहराइच से बीजेपी की सांसद सावित्री बाई फुले ने एक बार फिर अपनी ही पार्टी की सरकार की आलोचना की है. उन्होंने बाबा साहब भीमराव अंबेडकर का नाम बदलकर भीम रामजी आंबेडकर किए जाने के योगी सरकार के फैसले पर नाराजगी जताई है.

सावित्री बाई फुले ने NDTV से बातचीत करते हुए कहा कि मैं सरकार से मांग करती हूं कि जो बाबा साहब का नाम है उसमें कोई फेरबदल नहीं होना चाहिए. बुधवार को योगी सरकार ने बाबा साहब के नाम में रामजी जोड़ने का फैसला किया था. इस फैसले के मुताबिक सभी सरकारी इस्तेमाल में अब बाबा साहब डॉ भीमराव अंबेडकर की जगह डॉ भीम रामजी अंबेडकर लिखा जाएगा. इसके पीछे सरकार की दलील है कि बाबा साहब मराठी थे और हर मराठी अपने नाम के साथ आपने पिता का नाम लगाता है.

Newsbeep

VIDEO : आरक्षण पर बीजेपी के रुख को लेकर नाराजगी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हाल के दिनों में सावित्री बाई फुले लगातार अपनी ही सरकार के खिलाफ बागी तेवर दिखाती रहीं हैं. बाबा साहब के नाम को लेकर ताज़ा विवाद को लेकर जब हमने उनसे बात की तो आरक्षण को लेकर केंद्र सरकार के रवैये पर भी वे नाराज़ दिखीं. उनका कहना है कि आरक्षण को बाबा साहब के बनाए संविधान की भावनाओं के मुताबिक ठीक से लागू नहीं किया जा रहा है. सावित्री बाई फुले ने यह भी बताया कि एक अप्रैल को वे इस मुद्दे पर भारतीय संविधान आरक्षण बचाओ आंदोलन के बैनर तले लखनऊ में एक रैली करेंगी. सावित्री बाई फुले इस मुद्दे को लेकर इतनी आक्रामक हैं कि उन्होंने NDTV से कहा कि मैं भारतीय संविधान और उसमें जो आरक्षण के प्रावधान हैं उसे पूरी तरफ से लागू करवाने के लिए कोई भी कुर्बानी देने को तैयार हूं और सड़क से सांसद तक हर जगह मैं इस मुद्दे को उठाऊंगी.