हाथरस जाते हुए गिरफ्तार किए गए पत्रकार के खिलाफ आतंक विरोधी कानून के तहत FIR दर्ज

उत्तर प्रदेश पुलिस (Uttar Pradesh Police) ने केरल के एक पत्रकार (Kerala Journalist) समेत चार लोगों के खिलाफ आतंक विरोधी कानून के तहत केस दर्ज किया है.

हाथरस जाते हुए गिरफ्तार किए गए पत्रकार के खिलाफ आतंक विरोधी कानून के तहत FIR दर्ज

यूपी पुलिस ने चारों को गिरफ्तार कर लिया है. (सांकेतिक तस्वीर)

खास बातें

  • केरल के पत्रकार समेत चार गिरफ्तार
  • आतंक विरोधी कानून के तहत FIR दर्ज
  • यूपी पुलिस ने मथुरा में दर्ज किया केस
मथुरा:

उत्तर प्रदेश पुलिस (Uttar Pradesh Police) ने केरल के एक पत्रकार (Kerala Journalist) समेत चार लोगों के खिलाफ आतंक विरोधी कानून के तहत केस दर्ज किया है. चारों को हाथरस जाते समय मथुरा में गिरफ्तार कर लिया गया था. वह लोग पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे थे. गिरफ्तार पत्रकार केरल में एक मशहूर  वेबसाइट का संचालक है. वेबसाइट की फंडिंग को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं. मिली जानकारी के अनुसार, वेबसाइट की फंडिंग पारदर्शी नहीं है. दंगे भड़काने में भी इसका इस्तेमाल किया जा रहा था. यूपी पुलिस द्वारा चारों के खिलाफ दर्ज की गई FIR के अनुसार, चारों को सोमवार रात उस समय गिरफ्तार किया गया था, जब वो पीड़ित परिवार से मिलने के लिए हाथरस जा रहे थे. पत्रकार केरल की मशहूर वेबसाइट Carrd.co से जुड़ा है. कथित तौर पर इस वेबसाइट का लिंक पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) से बताया जा रहा है. इस संगठन को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार बैन करना चाहती है.

हाथरस जाते हुए गिरफ्तार किए गए पत्रकार की रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका

FIR के अनुसार, गिरफ्तार किए गए लोगों के नाम अतीक-उर-रहमान, सिद्दीकी कप्पन, मसूद अहमद और आलम हैं. इनके द्वारा चलाई जा रही वेबसाइट का वित्तीय लेखाजोखा पारदर्शी नहीं है. दंगे भड़काने की दिशा में ऐसा किया जा रहा था. पुलिस ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि कुछ संदिग्ध लोग दिल्ली से हाथरस जा रहे हैं. मथुरा के टोल गेट के पास चारों को रोक लिया गया.

AAP विधायक की सफाई-कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद गया था हाथरस, BJP पर झूठ फैलाने का आरोप लगाया

पुलिस ने उनके मोबाइल फोन, लैपटॉप और उनके पास से बरामद कुछ साहित्य जो राज्य की शांति और कानून व्यवस्था में बाधा डाल सकता था, को जब्त किया है. पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने पूछताछ में PFI और इसके सहयोगी संगठन कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया से लिंक होने की बात कबूल की है. FIR के मुताबिक, आरोपियों के पास से कुछ पैम्फलेट भी मिले हैं, जिनपर लिखा है- 'मैं भारत की बेटी नहीं हूं.'

Newsbeep

VIDEO: हाथरस गैंगरेप : CM योगी ने SIT को जांच के लिए दिया वक्त 10 दिन बढ़ाया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com