NDTV Khabar

व्‍हाट्सएप यूजर्स को स्‍कूली छात्र ने लश्‍कर ग्रुप ज्‍वाइन करने का भेजा इनविटेशन: यूपी पुलिस

आतंक निरोधी दस्ते के अधिकारी ने बताया कि व्हाट्सएप पर आमंत्रण भेजने वाला छात्र राजस्थान के भीलवाड़ा जिले का कक्षा नवमी का छात्र है. अधिकारी ने बताया, ‘‘उसके पिता रविवार को मिल नहीं सके, इसलिए उससे पूछताछ नहीं की जा सकी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
व्‍हाट्सएप यूजर्स को स्‍कूली छात्र ने लश्‍कर ग्रुप ज्‍वाइन करने का भेजा इनविटेशन: यूपी पुलिस

फाइल फोटो

खास बातें

  1. यह समूह राजस्थान में स्कूली छात्र कथित रूप से बनाया था.
  2. छात्र राजस्थान के भीलवाड़ा जिले का कक्षा नौवीं कक्षा का छात्र है
  3. छात्र के पिता घर पर नहीं मिले इसलिए नहीं हो सकी पूछताछ
लखनऊ: उत्तर- प्रदेश पुलिस ने बताया कि ‘लश्कर ए तोएबा’ नाम के एक व्हाट्सअप समूह से दूसरे व्हाट्सएप समूह के सदस्यों को ‘आमंत्रण’ (इनविटेशन) मिला. यह समूह राजस्थान में स्कूली छात्र कथित रूप से बनाया था.

यूपी के बलरामपुर में पत्रकार का खून से लथपथ शव सड़क किनारे मिला

आतंक निरोधी दस्ते के अधिकारी ने बताया कि व्हाट्सएप पर आमंत्रण भेजने वाला छात्र राजस्थान के भीलवाड़ा जिले का कक्षा नवमी का छात्र है. अधिकारी ने बताया, ‘‘उसके पिता रविवार को मिल नहीं सके, इसलिए उससे पूछताछ नहीं की जा सकी. उससे सोमवार को पूछताछ की जायेगी.’’ पुलिस ने बताया कि लश्कर ए तोएबा के नाम से समूह को आमंत्रण भेजने के बाद एक युवक की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है. 

साइबर क्राइम प्रकोष्ठ (लखनऊ) नोडल आफिसर अभय शुक्ला ने बताया कि शिकायकर्ता एक व्हाट्सअप ग्रुप का सदस्य था. उसे वहां एक अन्य व्हाट्सएप ग्रुप जिसका नाम लश्कर ए तोएबा था उससे आमंत्रण लिंक मिला. जब ग्रुप के सदस्यों ने इस आमंत्रण लिंक को खोला तब उस ग्रुप में कुछ नहीं मिला.

यूपी के बदमाशों में एनकाउंटर का खौफ, हत्‍या का आरोपी गिरफ़्तारी के लिए गिड़गिड़ाया

इस आधार पर इस व्हाट्सएप आमंत्रण लिंक को भेजने वाले के खिलाफ भारतीय दंड संहिता और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज​ किया गया है. इस बारे में उप्र एटीएस को भी सूचित कर दिया गया है.

टिप्पणियां
पुलिस के अनुसार यह आमंत्रण कुछ दिन पहले मिला है. यूपी एटीएस के आईजी असीम अरूण ने बताया कि अभी तक यह साफ नही हो पाया है​ कि युवक वास्तव में लश्कर व्हाट्सएप समूह को ज्वाइन किया था या नहीं.

VIDEO: यूपी में बड़ी संख्या में पुलिस मुठभेड़ों पर सवाल

अरूण ने बताया, ‘‘लेकिन उसने पुलिस को इस बात की जानकारी दी और जिस नंबर से यह आमंत्रण लिंक आया था उसकी जानकारी लग गयी है और यह पता चला है कि यह नंबर राजस्थान के भीलवाड़ा का है.' उन्होंने कहा कि हम राजस्थान पुलिस के साथ मिलकर काम कर रहे है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement