उत्तर प्रदेश: तपती धूप में प्रवासी मजदूरों को जमीन पर लोटवाने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई, एक लाइन हाजिर तो दूसरा...

उत्तर प्रदेश पुलिस का अमानवीय चेहरा हापुड़ जिले में देखने को मिला, जहां प्रवासी मजदूरों से पुलिस तपती धूप में सड़क पर लोटने की सजा दी.

उत्तर प्रदेश: तपती धूप में प्रवासी मजदूरों को जमीन पर लोटवाने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई, एक लाइन हाजिर तो दूसरा...

हापुड़ की घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है

हापुड़:

उत्तर प्रदेश पुलिस का अमानवीय चेहरा हापुड़ जिले में देखने को मिला, जहां प्रवासी मजदूरों से पुलिस तपती धूप में सड़क पर लोटने की सजा दी. ये प्रवासी मजदूर पटरियों के किनारे-किनारे होते हुए अपने गांव की तरफ पैदल जा रहे थे. कोतवाली नगर क्षेत्र के चमड़ी फाटक पर रेल की पटरी के किनारे गश्त करती पुलिस ने इन्हें पकड़ा तो देखा कि प्रवासी मजदूरों ने मास्क भी नहीं पहना था. लिहाजा पुलिसकर्मियों ने उन्हें सजा के तौर पर सड़क पर लोटने की सजा दी. सजा देने के दौरान पुलिसकर्मियों को इस तपती धूप का भी ख्याल नहीं आया, इस दौरान वह श्रामिकों पर डंडे बरसाते भी दिखाइ दिए. 

पुलिसकर्मियों द्वारा इस तरह की सजा देने का मामला वहां मौजूद किसी शख्स ने अपने मोबाइल कैमरे में कैद कर लिया और उसे सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया. देखते ही देखते यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया. जिसको देखते हुए यूपी पुलिस ने भी दोनों कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की है. जानकारी के मुताबिक रेलवे फाटक की पटरियों पर दो युवकों से तपती धूप में जमीन पर परिक्रमा कराने वाला एक पुलिसकर्मी सिपाही तो दूसरा होमगार्ड है. 

सिपाही को लाइन हाजिर व होमगार्ड के ऊपर कारवाई के लिए कमांडेंट को पत्र लिखा गया है. बताते चलें कि कोरोनावायरस के प्रकोप को रोकने ले लिए लॉकडाउन प्रवासी मजदूरों के लिए मुसीबतों का सबब बन गया है. सरकार के दावों के बावजूद प्रवासी मजदूरों के पैदल, साइकिल और अपने दूसरे साधनों से मीलों लंबा सफर तय कर रहे हैं. कुछ दुर्घटनाओं का शिकार हो रहे हैं, कुछ बॉर्डरों पर रोक लिए जा रहे हैं तो कुछ रास्तों पर ही सजाएं झेल रहे हैं. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com