आईआईटी कानपुर के चार प्रोफेसरों ने कथित रूप से दलित सहयोगी का उत्पीड़न किया, मामला दर्ज

आईआईटी कानपुर के एयरोस्पेस विभाग में दलित समुदाय के एक सदस्य ने पुलिस थाने में दर्ज कराया मामला

आईआईटी कानपुर के चार प्रोफेसरों ने कथित रूप से दलित सहयोगी का उत्पीड़न किया, मामला दर्ज

आईआईटी कानपुर.

खास बातें

  • प्रोफेसरों पर संस्थान में अफवाह फैलाने का आरोप लगाया
  • आरक्षण कोटे के तहत भर्ती हुआ और सवालों के जवाब देना नहीं आता
  • आईआईटी के निदेशक और विभाग प्रमुख को एक ईमेल भी भेजा
कानपुर:

आईआईटी कानपुर के एयरोस्पेस विभाग में दलित समुदाय के एक सदस्य के उत्पीड़न के आरोप में विभाग के चार वरिष्ठ प्रोफेसरों के खिलाफ सोमवार को कल्याणपुर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराया गया है.

पुलिस अधीक्षक (पश्चिमी) संजीव सुमन ने बताया कि यह मामला दलित समुदाय के एक संकाय सदस्य ने दर्ज कराया है. मामला अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति उत्पीड़न निवारण कानून की विभिन्न धाराओं में दर्ज किया गया है. पुलिस को मामले की जांच के निर्देश दिए गए हैं.

यह भी पढ़ें : JEE Advanced 2018: मानव संसाधन मंत्रालय के निर्देश पर IIT कानपुर ने जारी की नई Merit List

उन्होंने बताया कि मामला आईआईटी के ईशान शर्मा, संजय मित्तल, राजीव शेखर, सीएस उपाध्याय और एक अन्य के खिलाफ दर्ज कराया गया है. एसपी ने बताया कि शिकायतकर्ता सुब्रहमन्यम सदरेला संस्थान का पूर्व छात्र है. उसने आरोप लगाया है कि आरोपी प्रोफेसरों और अन्य ने संस्थान में यह अफवाह फैलाई कि वह आरक्षण कोटे के तहत यहां भर्ती हुआ है और उसे सवालों के जवाब देना नहीं आता.

VIDEO : छात्र की मौत पर हंगामा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आईआईटी के एक अधिकारी के अनुसार, शिकायकर्ता ने इस संबंध में आईआईटी के निदेशक और एयरोस्पेस इंजीनयरिंग विभाग प्रमुख एके घोष को कड़े शब्दों में एक ईमेल भी भेजा था.
(इनपुट भाषा से)