NDTV Khabar

दिव्यांग छात्र ने ऐसा क्या ट्वीट किया कि इंस्पेक्टर ने NSA लगाने की धमकी दे डाली

एलएलबी के छात्र ने पराली जलाए जाने से प्रदूषण होने की सूचना ट्वीट करके दी, पुलिस को ट्वीट करने से दरोगा की नाराजगी झेलनी पड़ी, डेढ़ घंटे हिरासत में रखा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. फोन करके छात्र से कहा आपने कैसे ट्वीट कर दिया मेरी इजाज़त के बगैर
  2. कहा- चौकी पहुंचिए अभी, नहीं तो गाड़ी से ढुलवा के लाऊंगा
  3. बरेली के एसपी ने कहा कि लिखित शिकायत मिलने पर जांच करेंगे
लखनऊ:

यूपी पुलिस के दरोगा क्या ट्विटर के दुश्मन हो गए हैं? बरेली में एलएलबी के एक दिव्यांग छात्र ने पुलिस को अपने पड़ोस में पराली जलाए जाने का वीडियो ट्वीट किया तो इलाके के नाराज दरोगा ने उसे डेढ़ घंटे हिरासत में रखा और नेशनल सिक्यूरिटी एक्ट (एनएसए) और गैंगस्टर एक्ट लगाकर 10 साल के लिए जेल भेजने की धमकी दी. इंस्पेक्टर और छात्र की बातचीत सोशल मीडिया में वायराल हो रही है. दरोगा का कहना था कि अगर पराली जली थी तो उसे दरोगा को ही सूचना देनी चाहिए थी, ट्वीट करने से हर अफ़सर को पता चल गया.

ट्विटर पर सबसे बड़ी मौजूदगी यूपी पुलिस की है. पुलिस की हर ब्रांच हर बड़े ओहदे वाले अफसर और हर ज़िले की पुलिस का अपना ट्विटर हैंडल है. इसी तरह जनता के तमाम ट्वीट पर फ़ौरन जवाब भी मिलता है. बरेली के छात्र इश्हाक ने अपने पड़ोस में पराली जलाने का वीडियो यूपी पुलिस और एडीजी को ट्वीट किया और लिखा- थाना शीशगढ़ के ग्राम टांडा छांगा में खुलेआम जलाया जा रहा है पराल.

जल्द ही उसे बरेली पुलिस का जवाब मिला कि उक्त संबंध में थाना प्रभारी शीशगढ़ को विधिक कार्रवाई हेतु अवगत करा दिया गया है.


छात्र के ट्वीट करने पर थाना इंचार्ज को लगा कि सुप्रीम कोर्ट भी पराली जलाने से नाराज़ है. लेकिन उनके ट्वीट से सारे अफसरों को पता चल गया कि उनके यहां पराली जल रही है. फिर देखिए वे ट्वीट करने वाले छात्र से कैसे पेश आए.

  • सुरेंद्र सिंह, इंस्पेक्टर :  इंस्पेक्टर शीशगढ़ बोल रहा हूं. क्या करते हो?
  • इश्हाक : नमस्ते सर.
  • इंस्पेक्टर : क्या करते हैं आप?
  • इश्हाक : सर मैं पढ़ाई करता हूं. एलएलबी का स्टूडेंट हूं.
  • इंस्पेक्टर : आपने कैसे ट्वीट कर दिया मेरी इजाज़त के बग़ैर आज? आपने मेरी इजाज़त के बग़ैर ट्वीट कैसे कर दिया?
  • इश्हाक़ : नहीं सर मुझे पता नहीं था न, ट्वीट करने के लिए इजाज़त चाहिए?
  • इंस्पेक्टर : आप चौकी पहुंचिए. अभी चौकी पहुंचिए, नहीं तो गाड़ी से ढुलवा के लाऊंगा.
  • इश्हाक़ : सर मतलब ऐसा है न कि वो पराली जला रहे हैं तो घर में धुंआ आ रहा है.
  • इंस्पेक्टर : तेरा दिमाग ठीक है? तेरा दिमाग ठीक है कि नहीं ठीक है? खाना खाता है कि नहीं खाता तू.
  • इंस्पेक्टर: आपके ख़िलाफ़ मैं मुकदमा लिखा रहा हूं. आप पांच मिनट में नहीं पहुंचते हैं तो आपकी पहले मैं एलएलबी ठीक करता हूं. तुम्हारे पैदा होने से पहले मैं एलएलबी किया हूं.
  • इश्हाक़ : अंकल मैं आपका बेटा हूं, मुझसे गलती हो गई. अब मैं ट्वीट नहीं करूंगा.
  • इंस्पेक्टर : तुम्हारे दिमाग खराब हैं.
  • इश्हाक़ : अंकल मैं आपका बेटा हूं. आप माफ कर दो एक बार. आप जैसा कहेंगे, वैसा करूंगा.
  • इंस्पेक्टर: आप चौकी पहुंचिए और लिखकर दीजिए, वरना तुम्हारे ख़िलाफ़ मुक़दमा क़ायम हो रहा है.
  • इश्हाक़ : चलो ठीक है अंकल मैं जा रहा हूं. मुझसे गलती हो गई. अब मैं ट्वीट नहीं करूंगा.
  • इंस्पेक्टर : तुमने अफ़वाह फैला दी. उसमें पूरा प्रदेश जलवाओगे...प्रदेश को..
  • इश्हाक़: अंकल मैं आपका बेटा हूं.
  • इंस्पेक्टर: तुम बवाली हो..तुमको सज़ा मिलेगी. 10 वर्ष के लिए तुम अंदर जाओगे, NSA लगाऊंगा तुम पर..गैंगस्टर लगाऊंगा.
  • इश्हाक़ : अंकल मुझसे ग़लती हो गई. मैं आपका बेटा हूं.
  • इंस्पेक्टर : तुम बाहर रहने योग्य नहीं हो, समाज में रहने योग्य नहीं हो.
  • इश्हाक : अंकल मैं पैर से विकलांग हूं. मुझसे ऐसी बात मत कीजिए.
  • इंस्पेक्टर : तुम समाज के योग्य नहीं हो. हां तुम्हारा विकलांग ठीक हो जाएगा.
  • इश्हाक़ : अंकल मुझसे गलती हो गई. जैसा आप कहोगे वैसा करने के लिए तैयार हूं.  

इंस्पेक्टर और छात्र की बातचीत की पूरी रिकॉर्डिंग बहुत बड़ी है…जिसमें इंस्पेक्टर ने करीब 30 बार छात्र से कहा कि तुम्हारा दिमाग खराब हो गया है, फौरन चौकी... और अफसोस की बात यह है कि छात्र के यह कहने पर कि अंकल जी मैं विकलांग हूं…गुस्से में भरे इंस्पेक्टर साहब कहते सुनाई पड़ते हैं कि मैं मैं तुम्हारी विकलांगता सही कर दूंगा.

इश्हाक ने बताया कि ''एसओ साहब का, सुरेन्द्र सिंह पचौरी साहब का फोन आया मेरे पास. उन्होंने मेरे साथ गली-गलौज की और धमकाया. बोले कि तुमने दोबारा ट्वीट किया तो 10 साल के लिए जेल भेज दूंगा. मतलब तू जेल से छूटकर नहीं आ पाएगा. बदतमीज़ी की, मुझसे गाली गलौज की गई.  फिर मुझे चौकी बुलाया गया. डेढ़ घंटे तक मुझे हिरासत में बिठाया गया और जो भी मेरे ट्वीट थे उन्हें डिलीट करा दिया गया.''

टिप्पणियां

बरेली पुलिस कहती है कि उन्हें इसकी कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है.अगर छात्र शिकायत करेगा तो जांच कर कार्रवाई की जाएगी.

बरेली के एसपी ग्रामीण संसार सिंह से पूछा गया कि पराली जलाने को लेकर एक एलएलबी छात्र को इंस्पेक्टर ने जमकर हड़काया और एनएसए लगाने की धमकी दी. पूरा मामला क्या है?आप लोग की तरफ से क्या कार्रवाई की गई? इस पर सिंह ने कहा कि ''हमारे पास इस तरह की कोई रिटन कम्प्लेंट नहीं आई है. आप लोग बता रहे हैं. अगर इस तरह का कोई मामला होता है तो जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी.''



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Jhund Teaser: अमिताभ बच्चन की 'झुंड' का टीजर रिलीज, 'सैराट' के डायरेक्टर का दिखा पॉवरफुल अंदाज

Advertisement