NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश : निकाह के 17 वर्ष बाद मैरिज रजिस्‍टर्ड कराने पहुंचे योगी के मंत्री मोहसिन रजा...

अपनी पत्नी के साथ जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे मंत्री मोहसिन रजा के साथ उनके परिवार के अन्य सदस्य भी मौजूद रहे. मां जाहिदा बेगम व ससुर जमाल हामिद ने गवाही में हस्ताक्षर किए. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश : निकाह के 17 वर्ष बाद मैरिज रजिस्‍टर्ड कराने पहुंचे योगी के मंत्री मोहसिन रजा...

उत्‍तर प्रदेश के वक्फ तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री मोहसिन रजा... (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. मोहसिन रजा अपनी पत्नी फौजिया के साथ जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे.
  2. मां जाहिदा बेगम व ससुर जमाल हामिद ने गवाही में हस्ताक्षर किए.
  3. मोहसिन ने कहा कि देश संविधान से चलता है धर्म से नहीं.
लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा विवाह पंजीकरण अनिवार्य किए जाने के बाद लोगों को पंजीकरण के लिए प्रोत्साहित करने के लिए गुरुवार को सूबे के वक्फ तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री मोहसिन रजा अपनी पत्नी फौजिया के साथ जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे. वहां उन्होंने एडीएम के समक्ष 17 वर्ष पूर्व हो चुके अपने निकाह के पंजीकरण का आवेदन किया.

पत्नी के साथ जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे मंत्री के साथ उनके परिवार के अन्य सदस्य भी मौजूद रहे. मां जाहिदा बेगम व ससुर जमाल हामिद ने गवाही में हस्ताक्षर किए. 

ये भी पढ़ें : योगी सरकार में भी खत्म नहीं होगा अल्पसंख्यकों को मिल रहा 20 फीसदी कोटा!

इस मौके पर मोहसिन ने कहा कि देश संविधान से चलता है धर्म से नहीं. सभी धर्मों के लोगों को विवाह पंजीकरण कराना चाहिए.

मोहसिन रजा और उनकी पत्नी के विवाह पंजीकरण के आवेदन की प्रक्रिया एडीएम आशुतोष मोहन अग्निहोत्री ने पूरी करवाई. आवेदन प्रक्रिया पूरी करने पर परिवार के सदस्यों ने सभी का मुंह मीठा कर खुशी का इजहार किया.

ये भी पढ़ें : Exclusive: योगी सरकार के मंत्री मोहसिन रजा पर वक्फ की जमीनें बेचने का आरोप

मोहसिन ने कहा, "समुदाय के लोगों को आगे आना चाहिए. सभी को विवाह पंजीकरण कराना चाहिए. निकाहनामा के बाद भी निकाह के पंजीकरण का आवेदन किया है, ताकि वह कानूनी रूप से वैध रहे और कोई अड़चन न आए".



टिप्पणियां
मंत्री ने कहा, "देश संविधान से चलता है, धर्म से नहीं. प्रदेश की योगी सरकार ने समाज के हित में निकाह तथा विवाह के पंजीकरण का आदेश दिया है. हमारे निकाह को 17 वर्ष हो गए, फिर भी हमने आज अपने निकाह के पंजीकरण के लिए आवेदन किया है. इससे सभी लोगों को एक अच्छा संदेश जाएगा, विशेष रूप से मुस्लिम समुदाय को अच्छा संदेश मिलेगा".

(इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement