Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

आदित्यनाथ के दिन की शुरुआत होती है गौ सेवा से, कुत्ता कालू है सबसे दुलारा

ईमेल करें
टिप्पणियां
आदित्यनाथ के दिन की शुरुआत होती है गौ सेवा से, कुत्ता कालू है सबसे दुलारा

लेब्राडोर नस्ल का कुत्ता कालू पूरे योगी आदित्यनाथ के आश्रम का रखवाला कहा जाता है.

खास बातें

  1. आदित्यनाथ के मठ के लंबे-चौड़े आंगन में रोज दाने बिखेरे जाते हैं
  2. एक बिल्ली है जो हमेशा आदित्यनाथ के साथ बैठकर ही खाना खाती है
  3. लेब्राडोर नस्ल का कुत्ता कालू पूरे आश्रम का रखवाला कहा जाता है.
गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मनोनीत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पशु-पक्षियों से बेहद लगाव है. उनके हर सुबह की शुरुआत गौ सेवा के साथ होती है. योगी आदित्यनाथ सुबह दैनिक नित्यकर्म से निपटने के बाद गोरखनाथ मंदिर की गोशाला में गायों को हरा चारा डालने जाते हैं. उनके आश्रम में काफी कुत्ते, गाय और बल्लियां हैं. मठ के लंबे-चौड़े आंगन में रोज दाने बिखेरे जाते हैं और मिट्टी के बर्तनों में पानी भरा रहता है. आश्रम में पलने वाले पशु-पक्षियों में कुत्ता कालू और एक बिल्ली से आदित्यनाथ को बेहद लगाव है. 

लेब्राडोर नस्ल का कुत्ता कालू पूरे आश्रम का रखवाला कहा जाता है. आश्रम के लोग कहते हैं कि जब योगी यहां नहीं होते हैं तो कुत्ता कालू ही सरदार की भूमिका में नजर आता है.

योगी अगर आसपास के इलाके में जाते हैं तो कुत्ता कालू उनके साथ होता है. आश्रम में भीड़ कितनी भी हो, एक आवाज पर कालू उनके पास पहुंचता है और योग में बैठ जाता है.

मंदिर में एक बिल्ली है जो हमेशा आदित्यनाथ के साथ बैठकर ही खाना खाती है. इस बिल्ली को खीर पसंद है, इसलिए उसके लिए रोज खीर बनवाए जाते हैं. सोशल मीडिया पर आदित्यनाथ की कई ऐसी तस्वीरें हैं, जिसमें वे बंदर और कुत्ते साथ बैठे दिखाए दे रहे हैं.

मालूम हो कि आदित्यनाथ अक्सर अपने भाषणों में गौ हत्या रोकने की बात करते हैं. चुनावी भाषणों में उन्होंने यहां तक कहा था कि सत्ता में आते ही वे गौ हत्या पर पूरी तरीके से प्रतिबंध लगा देंगे.

नोट: यह खबर मीडिया में अलग-अलग मौकों पर योगी आदित्यनाथ के दिए गए बयानों पर आधारित हैं.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement