उत्तर प्रदेश : घर लौटे 50 प्रवासी मजदूर कोरोना से संक्रमित, पहले से ही क्वारेंटाइन में थे सभी कामगार 

उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में 50 प्रवासी मजदूर कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. इस प्रकार जिले में इस संक्रमण से ग्रस्त लोगों की संख्या 104 हो गई है.

उत्तर प्रदेश : घर लौटे 50 प्रवासी मजदूर कोरोना से संक्रमित, पहले से ही क्वारेंटाइन में थे सभी कामगार 

उत्तर प्रदेश में 50 प्रवासी कामगार कोरोना से संक्रमित.

बस्ती:

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. भारत में  कोरोनावायरस (Covid-19) संक्रमितों का आंकड़ा एक लाख के पार पहुंच गया है. वहीं, देश में अब तक 3100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. देश में जारी लॉकडाउन के बावजूद कोरोना संक्रमण के मामलों में इजाफा देखने को मिला है. बता दें कि लॉकडाउन के बावजूद प्रवासी कामगारों का अपने गृह राज्य लौटना जारी है. हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूर यूपी और बिहार की तरफ लौट रहे हैं. प्रवासी मजदूरों को वापस लौटने पर क्वारेंटाइन सेंटरों में रखा जा रहा है और इनमें से कइयों को अब तक पॉजिटिव पाया गया है.

इस बीच उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में 50 प्रवासी मजदूर कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. इस प्रकार जिले में इस संक्रमण से ग्रस्त लोगों की संख्या 104 हो गई है. जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने मंगलवार को बताया कि सभी प्रवासियों को क्वारेंटाइन सेंटरों पर रखा गया था और उनके नमूने जांच के लिए भेजे गए थे.

जिलाधिकारी ने बताया कि 50 लोगों की जांच रिपोर्ट में संक्रमण की बात आने के बाद उन्हें मुंडेरवा और रूधौली के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन उन लोगों का पता लगान की कोशिश कर रहा है, जो इन प्रवासी मजदूरों के संपर्क में आये थे. जिलाधिकारी ने कहा ये सभी मजदूर पिछले हफ्ते महाराष्ट्र से लौटे थे.

बता दें कि उत्तर प्रदेश में मंगलवार तक प्रवासी श्रमिकों एवं कामगारों को लेकर 656 ट्रेन आ चुकी हैं और इनके जरिए आठ लाख 52 हजार प्रवासी कामगार गृह राज्य पहुंच चुके हैं. अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी ने संवाददाताअें को बताया कि मंगलवार को कुल 90 ट्रेन आ रही हैं और 258 ट्रेनों की स्वीकृति दी जा चुकी है जो रास्ते में हैं या फिर बुधवार एवं बृहस्पतिवार को आने वाली हैं.

इस प्रकार लगभग 914 ट्रेनों में 11 लाख 80 हजार प्रवासी श्रमिक एवं कामगार हमारे प्रदेश में या तो आ चुके हैं या पहुंच रहे हैं. अवस्थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश में जो भी ट्रेनें लायी जा रही हैं, उनका किराया रेल विभाग को प्रदेश सरकार दे रही है. कहीं भी किसी श्रमिक या कामगार को कोई भुगतान नहीं करना पड़ रहा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com