उत्तर प्रदेश: कर्ज से परेशान किसान ने आग लगाकर जान दी  

सूबे की भाजपा सरकार किसानों को ऋण मोचन प्रमाणपत्र बांट रही है लेकिन विडंबना यह है किसान अभी भी आत्महत्या करने को मजबूर हो रहे हैं.

उत्तर प्रदेश: कर्ज से परेशान किसान ने आग लगाकर जान दी   

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • यूपी के महोबा में मिजाजी अहिरवार ने खुदकुशी की
  • किसान मिजाजी अहिरवार पर 6 लाख रुपये का कर्ज था
  • 2005 में लिया कर्ज चुकाने में नाकाम रहने के बाद उठाया कदम
महोबा:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जनपद आगमन से कुछ ही घंटे पहले कर्ज से परेशान एक किसान ने आग लगाकर आत्महत्या कर ली. सूबे की भाजपा सरकार किसानों को ऋण मोचन प्रमाणपत्र बांट रही है लेकिन विडंबना यह है किसान अभी भी आत्महत्या करने को मजबूर हो रहे हैं.

यह भी पढ़ें : स्‍कूल जाने को बस सफर तक के पैसे नहीं थे, मजबूर किसान की बेटी ने दे दी जान

Newsbeep

कोतवाली क्षेत्र के कैमाहा गांव में शनिवार रात किसान मिजाजी अहिरवार (42) ने घर पर कमरे का दरवाजा बंद करके अपने ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली. इस दौरान उसकी पत्नी सुनीता जानवरों को चारा डालने गई थी. पत्नी जब वापस आई, तो अंदर आग की लपटें देख चिल्लाई और मदद के लिए गुहार लगाई. चिल्लाहट की आवाज सुनकर लोग दौड़ पड़े. लोगों ने दरवाजा तोड़कर मिजाजी को बाहर निकाला, लेकिन तब तक उसकी सांस थम चुकी थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO:  कर्ज के चलते एक और किसान ने खुदकुशी की
सुनीता के मुताबिक, उसके पति ने साल 2005 में बैंक से कर्ज लेकर ट्रैक्टर खरीदा था. हालांकि साल दर साल उपज खराब होती रही और वह कर्ज चुका पाने में नाकाम रहा. एक वर्ष पहले भारतीय स्टेट बैंक की जैतपुर शाखा ने उसे नोटिस दिया था. उस पर 6 लाख रुपये का कर्ज था.