NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश में बिजली चोरों की जानकारी देने की अपील, सूचना देने वाले का नाम रखा जाएगा गुप्त

ऊर्जा मंत्री ने मीडिया को बताया कि सरकार बिजली चोरी पर लगाम लगाकर उपभोक्ताओं को निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराना चाहती है, लेकिन बिजली चोर सरकार की इस कोशिश में आड़े आ रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश में बिजली चोरों की जानकारी देने की अपील, सूचना देने वाले का नाम रखा जाएगा गुप्त

प्रतीकात्मक फोटो

लखनऊ: उत्तर प्रदेश  के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा है कि 70 प्रतिशत बिजली चोरी राज्य के बड़े शहरों में हो रही है. ऊर्जा मंत्री ने मीडिया को बताया कि सरकार बिजली चोरी पर लगाम लगाकर उपभोक्ताओं को निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराना चाहती है, लेकिन बिजली चोर सरकार की इस कोशिश में आड़े आ रहे हैं. बिजली चोरी रोकने के लिए सरकार अपनी ओर से पूरी कोशिश कर रही है.

UP में बिजली की स्थिति सुधारने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं: श्रीकांत शर्मा

टिप्पणियां
उन्होंने कहा, ‘‘इस मामले में सरकार ईमानदार उपभोक्ताओं से भी बिजली चोरों के बारे में जानकारी देने की अपील कर रही है. उनसे प्राप्त हर सूचना पूरी तरह से गोपनीय रखी जाएगी. इसके अलावा जिन क्षेत्रों में 50 प्रतिशत से अधिक बिजली चोरी पाई गई है, उन क्षेत्रों में विशेष अभियान चलाया जाएगा.’उन्होंने कहा कि प्रदेश के तमाम फीडरों पर कराई गई बिजली चोरी की जांच के बाद यह पता लगा कि राज्य के बड़े शहरों में सबसे अधिक बिजली चोरी होती है. इनमें मथुरा जनपद भी शामिल है, क्योंकि यहां के 30 फीडर ऐसे पाए गए हैं जहां सर्वाधिक बिजली चोरी हो रही है.

वीडियो : बिजली चोरों पर राज्यपाल का बयान 

अधिकतम पारेषण क्षति वाले जनपदों में न केवल लखनऊ, वाराणसी, गाजियाबाद, आजमगढ़, गोरखपुर, इलाहाबाद, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, मथुरा, अलीगढ़, बरेली, मुरादाबाद, कानपुर, फैजाबाद, फिरोजाबाद, देवीपाटन आदि शामिल हैं बल्कि शामली, बागपत, जयप्रकाश नगर, संभल, एटा, मैनपुरी, हाथरस आदि अपेक्षाकृत छोटे शहरों में भी अच्छी-खासी बिजली चोरी की घटनाएं होती हैं.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement