NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश सरकार अपने विरोध में उठने वाली आवाजों का दमन करना चाहती है : माकपा

पार्टी के राज्य सचिव मंडल ने कहा कि प्रदेश में संगठित अपराधों को रोकने के लिए पहले से ही पर्याप्त कानून मौजूद हैं.

4 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश सरकार अपने विरोध में उठने वाली आवाजों का दमन करना चाहती है : माकपा

योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. यूपीकोका विधेयक की माकपा ने अलोचना की
  2. प्रदेश में संगठित अपराधों को रोकने के लिए पहले से ही पर्याप्त कानून मौजूद
  3. कहा, इस विधेयक को पेश करने की बजाय ठंडे बस्ते में डाल दिया जाए
लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा के वर्तमान सत्र में संगठित अपराधों को रोकने के लिए प्रस्तुत किए जा रहे यूपीकोका विधेयक की भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्‍सवादी (माकपा) ने अलोचना की है. पार्टी के राज्य सचिव मंडल ने कहा कि प्रदेश में संगठित अपराधों को रोकने के लिए पहले से ही पर्याप्त कानून मौजूद हैं. अगर सरकार में इच्छाशक्ति होती तो उन कानूनों का इस्तेमाल करके ही संगठित अपराधों पर रोक लग चुकी होती. पार्टी के राज्य सचिव मंडल सदस्य एस.पी. कश्यप ने कहा कि हर मोर्चे पर विफल उत्तर प्रदेश सरकार अपने विरोध में उठने वाली आवाजों का दमन करना चाहती है.

यह भी पढ़ें : माफिया के खिलाफ योगी का कड़ा कानून, मकोका की तर्ज पर बनेगा यूपीकोका

इस लिए यह विधेयक ला रही है. उन्होंने कहा कि यूपीकोका विधेयक जब कानून बन जाएगा तो इसका दुरूपयोग प्रदेश में सरकार का विरोध कर रही ताकतों के खिलाफ किया जाएगा. यह जनता के जनवादी अधिकारों पर कुठाराघात करने का काम करेगा. सचिव मंडल ने मांग की है कि इस विधेयक को पेश करने की बजाय ठंडे बस्ते में डाल दिया जाए.

VIDEO : कब पूरा होगा घर का सपना? अधर में सीएम योगी का ऐलान​

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement