NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में दो लड़कियों ने रचाई शादी, लेकिन प्रशासन ने नहीं दी मान्यता

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में शुक्रवार को दो युवतियों ने समलैंगिक विवाह कर लिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में दो लड़कियों ने रचाई शादी, लेकिन प्रशासन ने नहीं दी मान्यता

प्रतिकात्मक चित्र

बांदा:

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में शुक्रवार को दो युवतियों ने समलैंगिक विवाह कर लिया. हालांकि सुप्रीम कोर्ट द्वारा समलैंगिक विवाह को सामाजिक मान्यता देने के आदेश ते बावजूद स्थानीय प्रशासन ने इस विवाह को मान्यता नहीं दी. पंजीयन विभाग के अधिकारियों का तर्क है कि अभी तक उनके पास आदेश से जुड़ा कोई शासनादेश नहीं आया है. निबंधन कार्यालय के सब रजिस्ट्रार रामकिशोर पाल ने शनिवार को बताया कि ‘‘राठ कोतवाली क्षेत्र में रहने वाली दो युवतियां उनके कार्यालय आईं और एक-दूसरे के गले में जयमाल डाल कर शादी रचा ली. इनमें एक युवती की उम्र 26 साल और दूसरी युवती 21 साल की है, जो शादीशुदा और एक बच्चे की मां भी है''. 

कोंकणा सेन ने जताया खेद, बोलीं- फिल्मों में कोई समलैंगिक कलाकार न होना दुर्भाग्यपूर्ण


उन्होंने बताया कि समलैंगिक जोड़े ने शपथ पत्र के जरिए प्रार्थन पत्र देकर शादी को पंजीकृत करने और सामाजिक मान्यता देने की मांग की है, लेकिन समलैंगिक विवाह को सर्वोच्च न्यायालय के मान्यता देने संबंधी कोई शासनादेश अब तक न आने की वजह से न तो शादी पंजीकृत की जा सकी है और न ही उसे मान्यता ही दी गई है''. इक्कीस साल की युवती के अधिवक्ता दयाशंकर तिवारी ने बताया कि ‘‘उसकी मुअक्किल परिषदीय विद्यालय के शिक्षक की बेटी है और 26 साल की युवती एक मजदूर की बेटी है. दोनों ने अपनी मर्जी से समलैंगिक विवाह रचाया है और जिलाधिकारी को संबोधित शपथ पत्र के जरिए पंजीयन व सामाजिक मान्यता देने की मांग की है''. (इनपुट भाषा)

टिप्पणियां

गाजियाबाद: समलैंगिक रिश्तों की वजह से हुई थी AAP नेता नवीन दास की हत्या 

'NDTV युवा' में धारा 377 पर यह बोले बाबा रामदेव​

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement