उत्तर प्रदेश : लखनऊ प्राणि उद्यान में सफेद बाघ 'आर्यन' की मौत, शोक में डूबा चिड़ियाघर

चिड़ियाघर के अस्पताल प्रांगण में निदेशक, रेंजर और कीपर ने उसे 20 किलो की माला अर्पित कर अंतिम विदाई दी.

उत्तर प्रदेश : लखनऊ प्राणि उद्यान में सफेद बाघ 'आर्यन' की मौत, शोक में डूबा चिड़ियाघर

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • 'नवाब वाजिद अली शाह प्राणि उद्यान' (चिड़ियाघर) का मामला.
  • 18 वर्षीय सफेद टाइगर आर्यन लंबे समय से बीमार था.
  • 18 वर्षीय सफेद टाइगर 'आर्यन' की मौत से जू स्टाफ शोक में डूब गया है.
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश की राजधानी के 'नवाब वाजिद अली शाह प्राणि उद्यान' (चिड़ियाघर) की शान रहे सफेद बाघ 'आर्यन' ने शुक्रवार की सुबह जिंदगी का साथ छोड़ दिया. सबका चहेता रहा 18 वर्षीय सफेद टाइगर आर्यन लंबे समय से बीमार था. आर्यन खास तौर पर बच्चों को बहुत पसंद था. उसकी दहाड़ जहां बच्चों को रोमांचित करती थी तो वहीं चिड़ियाघर की पहचान भी बन गई थी. उसकी मौत की जानकारी मिलते ही कीपर मुबारक समेत सारा जू स्टाफ शोक में डूब गया. 

यह भी पढ़ें : सांप के काटने से प्राणी उद्यान में सफेद बाघ की मौत

चिड़ियाघर के अस्पताल प्रांगण में निदेशक, रेंजर और कीपर ने उसे 20 किलो की माला अर्पित कर अंतिम विदाई दी. उप निदेशक डॉ. उत्कर्ष शुक्ला भी आर्यन के निधन से काफी दुखी हैं. उन्होंने बताया कि नियमानुसार उसका पोस्टमार्टम होगा. आर्यन के चले जाने से अब उसके बाड़े के आसपास सन्नाटा पसरा है. उसके साथ बाड़े में रहने वाले व्हाइट टाइगर के दो बच्चे जय और विजय भी गुमसुम हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : दिल्ली के चिड़ियाघर में बाघ का शिकार बना नवयुवक​

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)