बीएचयू में राजनीति शास्‍त्र विभाग में पोती गई वीर सावरकर की फ़ोटो पर स्याही

एमए फर्स्ट ईयर के छात्र जब रूम नंबर 103 में क्लास करने पहुंचे तो उन्‍हें घटना की जानकारी मिली. छात्र ने देखा कि वीर सावरकर की फोटो को दीवार से उखाड़ कर पहली बेंच पर पटक दिया गया है.

बीएचयू में राजनीति शास्‍त्र विभाग में पोती गई वीर सावरकर की फ़ोटो पर स्याही

मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित कर दी गई है

वाराणसी:

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) इन दिनों राजनीति का अखाड़ा बनी हुई है. अभी संस्कृत विभाग में मुस्लिम प्रोफेसर की नियुक्ति का मामला ठंडा नहीं पड़ा है, आरएसएस के ध्वज हटाने के मामले पर कार्रवाई होना बाकी है, छात्रावासों में छात्रों की आपस की लड़ाई का मामला भी गर्म है. ऐसे में एक ताजा मामला और आ गया कि बीएचयू के पॉलिटिकल साइंस डिपार्टमेंट में वीर सावरकर की मूर्ति की फोटो के साथ छेड़छाड़ की गई है. छात्रों ने न सिर्फ़ स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर के फोटो को दीवार से उखाड़ कर नीचे फेंक दिया, बल्कि उस पर स्याही भी पोत दी. बीएचयू के पॉलिटिकल साइंस डिपार्टमेंट में महात्मा गांधी, बाबा साहब आंबेडकर और वीर सावरकर सहित कई महापुरुषों के चित्र लगे हुए हैं. सभी क्लासरूम में तीन वर्ष पहले छात्रों और शिक्षकों के सहयोग से इन चित्रों को लगाया गया था.

Newsbeep

बता दें कि एमए फर्स्ट ईयर के छात्र जब रूम नंबर 103 में क्लास करने पहुंचे तो उन्‍हें घटना की जानकारी मिली. छात्र ने देखा कि वीर सावरकर की फोटो को दीवार से उखाड़ कर पहली बेंच पर पटक दिया गया है. फोटो पर स्याही भी लगी हुई थी. इसके बाद छात्र आक्रोशित हो गए और धरने पर बैठ गए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


छात्रों के आक्रोश को देख कर एचओडी घटनास्‍थल पर पहुंचे. एचओडी ने इस घटना की निंदा करते हुए इस हरकत को गलत करार दिया. उन्होंने छात्रों को आश्वसन दिया कि एक कमेटी गठित कर मामले की जांच की जाएगी. वही बीएचयू डिपार्टमेंट के एचओडी प्रोफेसर अशोक उपाध्याय ने कहा कि डीन मोहोदय द्वारा तीन सदस्यीय टीम गठित कर दी गई है, जल्द ही रिपोर्ट सामने आ जायेगी.