NDTV Khabar

राम मंदिर निर्माण के लिए NSUI जिलाध्यक्ष विलाल अहमद ने दिया 1100 रुपए का चेक, कहा- मेरे नाम से भी 4 ईंटें...

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद विवादित जमीन पर राम मंदिर बनने का रास्ता साफ हो गया है. सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए पूरी 2.77 एकड़ जमीन रामलला विराजमान को देने को कहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राम मंदिर निर्माण के लिए NSUI जिलाध्यक्ष विलाल अहमद ने दिया 1100 रुपए का चेक, कहा- मेरे नाम से भी 4 ईंटें...

जिला मजिस्ट्रेट को चेक सौंपते हुए विलाल अहमद

खास बातें

  1. विवादित 2.77 एकड़ जमीन रामलला विराजमान को देने का दिया फैसला
  2. विलाल अहमद ने मंदिर निर्माण के लिए दिया 1,100 का चेक
  3. मस्जिद के लिए अयोध्या में ही अलग से पांच एकड़ जमीन देगी सरकार
आगरा:

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद विवादित जमीन पर राम मंदिर बनने का रास्ता साफ हो गया है. सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए पूरी 2.77 एकड़ जमीन रामलला विराजमान को देने को कहा है. इसके साथ ही कोर्ट ने मंदिर निर्माण के लिए सरकार को तीन महीने के अंदर एक ट्रस्ट बनाने का भी आदेश दिया है. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद लोग मंदिर निर्माण में सहयोग देने के लिए आगे आ रहे हैं. सहयोग करने वाले इन लोगों में विलाल अहमद का नाम भी शामिल है. विलाल अहमद आगरा के रहने वाले हैं और उन्होंने राम मंदिर निर्माण में सहयोग देते हुए 1,100 रुपए का एक चेक जिला मस्जिस्ट्रेट को सौंपा है. बता दें, विलाल अहमद नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (NSUI) के जिलाध्यक्ष हैं. 


अयोध्या मामले पर SC के फैसले से असंतुष्ट नजर आ रहा निर्मोही अखाड़ा, दायर कर सकता है पुनर्विचार याचिका

जिला मस्जिस्ट्रेट को चेक सौंपने के बाद विलाल अहमद ने कहा कि अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को सभी ने दिल से स्वीकार किया है. यह मेरी दिली इच्छा है कि जब मंदिर का निर्माण हो तो उसमें मेरा भी योगदान हो. उन्होंने कहा, 'देश के लोगों ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को तहेदिल से स्वीकार किया है. मैंने जिलाधिकारी को 1,100 रुपये का चेक सौंपा है. यह मेरी हार्दिक इच्छा है कि जब मंदिर का निर्माण शुरू हो तो उसमें मेरे नाम से भी 4 ईंटें रखी जाएं.' 

Ayodhya Case: अयोध्या पर फैसले के लिए सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ जजों ने की CJI रंजन गोगोई की तारीफ

टिप्पणियां

बता दें, शनिवार को सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में वर्षों पुराने अयोध्या मामले पर अपना फैसला सुनाया था. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 जजों की बेंच ने विवादित 2.77 एकड़ जमीन को रामलला विराजमान को दिया है. वहीं मुस्लिम पक्ष को मस्जिद बनाने के लिए अलग से 5 एकड़ जमीन देने का उत्तर प्रदेश सरकार को निर्देश दिया है.

Video: अयोध्या मामले पर पांच जजों की बेंच ने सुनाया फैसला



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement