NDTV Khabar

आखिर क्यों जहर खा लिया कानपुर के IPS सुरेंद्र दास ने , पांच दिन तक चला जिंदगी-मौत का संघर्ष

30 वर्ष के आइपीएस सुरेंद्र दास की आत्महत्या चौंकाने वाली है. पुलिस और परिवार दोनों ने आत्महत्या के पीछे पत्नी से विवाद को मुख्य वजह करार दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आखिर क्यों जहर खा लिया कानपुर के IPS सुरेंद्र दास ने , पांच दिन तक चला जिंदगी-मौत का संघर्ष

पारिवारिक कलह में आत्महत्या करने वाले कानपुर के एसपी पूर्वी रहे आईपीएस सुरेंद्र दास.

यूपी काडर के 30 वर्ष के आइपीएस सुरेंद्र दास की आत्महत्या चौंकाने वाली है. एकेडमी में हर हालात से जूझने की कड़ी ट्रेनिंग लेने वाले शख्स के भी इस कदर टूटकर मौत को गले लगाने से लोग हैरान हैं. पुलिस और परिवार दोनों ने आत्महत्या के पीछे पत्नी से विवाद को मुख्य वजह करार दिया है. पिछले डेढ़ महीने से कानपुर में एसपी पूर्वी का पद संभाल रहे सुरेंद्र दास के घर वालों का कहना है कि वे सुसाइड लेटर की एक्सपर्ट से जांच के बाद पत्नी और ससुरालवालों पर केस दर्ज कराएंगे. फौज में कैप्टन रहे पिता की मौत के बाद भी जो सुरेंद्र दास लक्ष्य से डिगे नहीं और आईपीएस बनकर दिखा दिया, वह सुरेंद्र पत्नी से अनबन के बाद आत्महत्या को गले लगा लेंगे, इसका अंदाजा परिवार को भी नहीं था. बाद 2014 में आइपीएस बने सुरेंद्र दास की पुलिस महकमे में अच्छी छवि के लिए जाने जाते थे. उनकी मौत से उन्हें जानने-वाले हैरान हैं. चाहे बलिया के गांव के दोस्तों की बात करें या फिर उनके मातहत काम करने वाले पुलिसकर्मियों की. हर कोई सुरेंद्र दास के स्वभाग का मुरीद रहा. यह दीगर बात है कि पिछले कुछ समय से सुरेंद्र दास के चेहरे पर चिंता की लकीरें साफ पढ़ीं जा सकतीं थीं. इन हालात ने उन्हें आत्महत्या की तरफ मोड़ दिया. जहर खाने के बाद पांच दिन तक अस्पताल के बिस्तर पर जिंदगी-मौत के बीच संघर्ष के बाद 10 सितंबर को उन्होंने दम तोड़ दिया.

कानपुर : जिंदगी की जंग हारे आईपीएस सुरेन्द्र दास, पांच दिन पहले खा लिया था जहर


लेटर में बीवी को लिखा लव यू
 पांच सितंबर को जब सुरेंद्र ने जहर खाया था तो पुलिस ने सात लाइन का सुसाइड नोट बरामद किया था. लाल रंग की सुर्ख स्याही वाली पेन से यह लेटर लिखा गया था. जिसमें सुरेंद्र ने पत्नी डॉ. रवीना सिंह को आइ लव यू लिखते हुए कहा था कि उनकी मौत के पीछे किसी का हाथ नहीं है. हालांकि उन्होंने यह भी लिखा था कि रोज-रोज की कलह से तंग आकर वह आत्महत्या का फैसला ले रहे हैं. माना जा रहा है कि बीवी को बेहद प्यार करने के बावजूद सुरेंद्र दास रोज-रोज की किचकिच को सहन नहीं कर पाए. यूं तो पत्नी से आए दिन खटपट होती थी, मगर कहा जा रहा कि बात जन्माष्टमी के दिन कुछ ज्यादा ही बढ़ गई थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पत्नी ने नॉनवेज बर्गर मंगाकर उस दिन खा लिया था, जबकि सुरेंद्र ने त्योहार के दिन ऐसा करने से मना किया था. इसको लेकर इस कदर लड़ाई हुई कि आईपीएस ने सल्फास की गोलियां निगल लीं.हालांकि सुरेंद्र दास के ससर डॉ. रवींद्र सिंह इसे अफवाह बताते हैं.

उत्तर प्रदेश: कानपुर के सिटी एसपी सुरेंद्र दास ने की खुदकुशी की कोशिश, फिलहाल ICU में

यूं हुई थी शादी
 
आइपीएस बनने के बाद सुरेंद्र दास को काबिल जीवनसंगिनी की तलाश थी. वर्ष 2017 में उन्होंने मेट्रोमोनियल साइट्स पर अपना रजिस्ट्रेशन कराया था. भाई नरेंद्र के मुताबिक साइट्स पर एक दूसरे की प्रोफाइल देखने के बाद उनके बीच जान-पहचान हुई थी। मां के साथ बाद में सुरेंद्र पेशे से चिकित्सक डॉ. रवीना के घर गए थे. लड़की पसंद आने पर कानपुर के सर्वोदय नगर स्थित ईएसआई निदेशालय में मेडिकल ऑफीसर डॉ. रावेंद्र सिंह की बेटी डॉ. रवीना से 9 अप्रैल 2017 को उनकी शादी हुई. 

उत्तर प्रदेश में महिला सिपाही की कथित आत्महत्या का मामला सोशल मीडिया पर गरमाया, 4 पुलिसकर्मियों पर उत्पीड़न का आरोप

टिप्पणियां

भाई का आरोप-पत्नी परिवार से करती थी दूर
आइपीएस सुरेंद्र दास के बड़े भाई नरेंद्र के मुताबिक शादी के बाद से ही सुरेंद्र परेशानी महसूस करने लगे. उनका अचानक घर पर आना-जाना कम हो गया.  भाई के मुताबिक पत्नी उन्हें घरवालों से संबंध रखने से रोकतीं थीं. बड़े भाई का आरोप है कि शादी के बाद से पत्नी लखनऊ स्थित घर पर रहने की जगह गोमतीनगर में अपने पिता के घर चली जातीं थीं. शादी के दो महीने बाद ही पति-पत्नी में अनबन होने लगी थी. मां इंदू की मानें तो बेटे से बात किए हुए उन्हें 40 दिन हो गए थे. तीन अगस्त को कानपुर में एसपी पूर्वी बनने के बाद से सिर्फ एक दिन बेटे से बात हुई थी. मां का कहना है कि बचपन से मेधावी रहे सुरेंद्र दास की इच्छा इंजीनियरिंग करने की थी तो उन्हें इलेक्ट्रि्कल से इंजीनियरिंग कराया. मगर मौत के साथ सारी आकांक्षाएं टूटकर चकनाचूर हो गईं. उधर एसपी पूर्वी आवास पर तैनात कर्मियों ने पूछताछ के दौरान बताया कि कई बार जब घर में साहब का पत्नी से झगड़ा होता था तो सभी स्टाफ को आवास से बाहर कर दिया जाता था.
वीडियो-बरेली के मेडिकल कॉलेज में छात्रा की संदिग्ध मौत, सीबीआई जांच की मांग 

 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement