NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश: लूट का विरोध करने पर आरोपियों ने महिला और उसकी बेटी को चलती ट्रेन से नीचे फेंका 

अधिकारी के मुताबिक मनीषा को इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा के लिये कोचिंग संस्थान में दाखिला लेना था, जिसके लिए वे कोटा जा रहे थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश: लूट का विरोध करने पर आरोपियों ने महिला और उसकी बेटी को चलती ट्रेन से नीचे फेंका 

प्रतीकात्मक चित्र

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में लुटेरों ने एक महिला और उसकी बेटी को लूट का विरोध करने पर चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया. घटना में दोनों की मौत हो गई. पुलिस के घटना महिला और उसकी बेटी दिल्ली से कोटा जा रहे थे. आरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि घटना अजहाई रेलवे स्टेशन के निकट हुई जब दिल्ली के शाहदरा की निवासी मीना (55) अपनी बेटी मनीषा (21) और बेटे आकाश (23) के साथ निजामुद्दीन-तिरुवनंतपुरम सेन्ट्रल एसएफ एक्सप्रेस (22634) ट्रेन में सफर कर रही थीं. अधिकारी के मुताबिक मनीषा को इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा के लिये कोचिंग संस्थान में दाखिला लेना था, जिसके लिए वे कोटा जा रहे थे. तड़के मीना ने लुटेरे को उनका बैग ले जाते हुए देखा.

दिल्ली से बिहार जा रही थी ट्रेन, मास्क पहन कर घुसे 15 बदमाश, बंदूक के जोर पर 1 घंटे तक 200 यात्रियों को लूटा


आरोपियों ने उनका बैग पकड़ रखा था और शोरगुल की आवाज से उठी मनीषा ने भी बैग को छुड़ाने की कोशिश की. इसके बाद एक लुटेरा उन्हें खींचता हुआ स्लीपर कोच के गेट पर पहुंच गया और बैग छीनकर मां-बेटी को ट्रेन से धकेल दिया. महिला के बैग में मोबाइल फोन, नकदी, कोचिंग और हॉस्टल की फीस के चैक तथा अन्य कीमती सामान थे. अपनी मां और बहन को ट्रेन से बाहर फेंके जाने के बाद तुरंत बाद आकाश ने ट्र्रेन की चेन खींची लेकिन तब तक ट्रेन वृंदावन रोड रेलवे स्टेशन पहुंच गयी. इसके बाद आकाश ने घटना की पूरी जानकारी पुलिस को दी.

चलती ट्रेन में लूट की वारदातें करने वाला गिरोह पकड़ा गया, महिलाओं को बनाते थे निशाना

घटना की जानकारी मिलते ही आरपीएफ ने घटनास्थल के लिए एक एंबुलेंस को रवाना कर दिया. लेकिन इससे पहले की एंबुलेंस दोनों घायलों को पास के अस्पताल तक पहुंचा पाती दोनों की मौत हो गई. आरपीएफ ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. साथ ही गिरफ्तारी के लिए विशेष टीम बना दी गई है.

पिछले साढ़े तीन वर्षों में ट्रेनों में यात्रियों के सामान चोरी की 55,369 घटनाएं हुईं

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले मे शुक्रवार रात चेन्नई एक्सप्रेस में लूटपाट करने वाले बदमाश यात्रियों के सोने-चांदी और नकदी के साथ ही एक यात्री की मां का अस्थि कलश भी लूटकर अपने साथ ले गए थे. पुलिस ने यह जानकारी दी थी. जीआरपी के मुताबिक चेन्नई निवासी यात्री बदमाशों से कलश में अपनी मां की अस्थियां होने की बात कहता रहा लेकिन बदमाशों को उसकी भाषा समझ में नहीं आई और वे अन्य यात्रियों के सामान के साथ उसकी मां का अस्थि कलश भी ले गए थे. 

2 करोड़ के घोटाले में पकड़ी गईं मिसेज इंडिया गैलेक्सी, पापा और मामा के खाते में जमा कर दिया था पैसा

जीआरपी ने बताया था कि चेन्नई निवासी पीड़ित यात्री अपनी मां के अस्थि क्लश को गंगा मे प्रवाहित करने के लिये हरिद्वार जा रहा था लेकिन बदमाशों ने कीमती सामान के शक मे इस कलश को भी लूट लिया. रेल मे सवार आईआईटी रुड़की के प्रोफेसर कुमार पी के परिवार की महिलाओं से बदमाशों ने सोने की चेन कुंडल और मंगलसूत्र लूट लिये थे. इस प्रकरण की रिपोर्ट भी प्रोफेसर कुमार पी ने जी आर पी थाने मे दर्ज कराई थी . 

'सेक्स के बदले डिग्री' देती थी ये प्रोफेसर, गिरफ्तारी के 11 महीने बाद कोर्ट ने दी जमानत

गौरतलब है कि शुक्रवार- शनिवार की दरमियानी रात सशस्त्र बदमाशों ने सहारनपुर से होकर गुजरने के बाद चेन्नई एक्सप्रेस के तीन डिब्बों में लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया था. 

टिप्पणियां

Video: 6 मिस कॉल, 1.86 करोड़ ग़ायब

 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement