NDTV Khabar

आय से अधिक संपत्ति :नोएडा-ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के पूर्व चीफ इंजीनियर यादव सिंह और उनके परिवार के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल

सीबीआई के मुताबिक जिन लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई है उनमें यादव सिंह, उनकी पत्नी, दो बेटियां, बेटा और बहू, एक चार्टेड अकॉउंटेन्ट, तीन प्राइवेट कंपनियां और एक चैरिटेबल ट्रस्ट हैं.

206 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
आय से अधिक संपत्ति :नोएडा-ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के पूर्व चीफ इंजीनियर यादव सिंह और उनके परिवार के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल

फाइल फोटो

गाजियाबाद: आय से अधिक संपत्ति के मामले में सीबीआई ने नोएडा और ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के पूर्व चीफ इंजीनियर यादव सिंह और उनके परिवार के खिलाफ ग़ाज़ियाबाद की विशेष सीबीआई कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है. सीबीआई के मुताबिक जिन लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई है उनमें यादव सिंह, उनकी पत्नी, दो बेटियां, बेटा और बहू, एक चार्टेड अकॉउंटेन्ट, तीन प्राइवेट कंपनियां और एक चैरिटेबल ट्रस्ट हैं.

नोएडा घोटाला : यादव सिंह की जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने ED को नोटिस जारी कर जवाब मांगा

चार्जशीट के मुताबिक 1 अप्रैल 2004 से 4 अगस्त 2015 तक यादव तब नोएडा और ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के चीफ इंजीनियर और उनके परिवार ने 23 करोड़ 15 लाख रुपये अवैध तरीके से कमाए जो उनकी आय से 513 प्रतिशत ज्यादा हैं. जांच में ये भी बात सामने आयी कि यादव सिंह और उनके परिवार में अपने कालेधन को सफेद करने के लिये 3 प्राइवेट लिमिटेड कंपनी, 3 प्रोपराइटर फर्म, 1 चैरिटेबल ट्रस्ट बनाए. इन कंपनियों और फर्म में अलग-अलग माध्यम से पैसा लगाया गया.
सीबीआई ने इस मामले में इलाहाबाद हाइकोर्ट के आदेश के बाद 30 जुलाई 2015 को केस दर्ज किया गया था और सीबीआई ने अगस्त 2015 के महीने में यादव सिंह के घर के अलावा उनके 16 ठिकानों पर छापेमारी कर तलाशी ली थी. तलाशी में यादव सिंह की 3 अचल संपत्ति उनकी पत्नी की 19 अचल संपत्ति और बेटे की 3 अचल संपत्तियों का पता चला था और ये भी पता चला था कि यादव ने उस दौरान 1 करोड़ से ज्यादा के गहने भी खरीदे थे. नोएडा में उसकी आलीशान कोठी से  बड़ी मात्रा में कैश, गहने और हीरे बरामद हुए थे. उसके कई नेताओं से भी नजदीकियों का पता चला था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement