मोदी के समर्थन में उतरे योगगुरु रामदेव, लोगों से की समर्थन देने की अपील

उन्होंने शुक्रवार को वृन्दावन में दो स्थानों पर आयोजित अलग-अलग कार्यक्रमों को संबोधित किया.

मोदी के समर्थन में उतरे योगगुरु रामदेव, लोगों से की समर्थन देने की अपील

पतंजलि के संस्थापक योगगुरु बाबा रामदेव (फाइल फोटो)

मथुरा:

पतंजलि के संस्थापक योगगुरु बाबा रामदेव शुक्रवार को नोटबंदी एवं जीएसटी से जीडीपी में आई गिरावट तथा मंद पड़ती अर्थव्यवस्था के कारण विपक्षी दलों के निशाने पर चल रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में बोले. उन्होंने देशवासियों से मोदी का विरोध करने के बजाय उनका समर्थन करने की वकालत की. ‘दिव्य प्रेम संस्थान’ द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में रामदेव ने कहा कि यदि देश के सवा सौ करोड़ लोगों में से ढाई करोड़ उनके (प्रधानमंत्री) साथ आ जाये तो निश्चित ही भारत जल्द ही विश्व का नेतृत्व करने की क्षमता पा लेगा. उन्होंने शुक्रवार को वृन्दावन में दो स्थानों पर आयोजित अलग-अलग कार्यक्रमों को संबोधित किया.

उन्होंने कहा, ‘आजकल जीडीपी को लेकर काफी सवाल उठाए जा रहे हैं. मोदी पुरुषार्थ कर रहे हैं और मीडिया वाले उन्हें बदनाम कर रहे हैं. ये तो आंकड़े हैं, और आंकड़े तो गलत भी हो सकते हैं. देश में 125 करोड़ लोग हैं. यदि इनके 250 करोड़ हाथों का साथ मिल जाए तो प्रधानमंत्री मोदी जो न्यू इण्डिया का सपना देख रहे हैं वह पूरा हो जाएगा.’ उन्होंने कहा, ‘ऊपर (केंद्र सरकार) मोदी हैं, नीचे (उत्तर प्रदेश सरकार) योगी हैं.

यह भी पढ़ें : दो लाख करोड़ रुपये का ब्रांड होगा पतंजलि, अब फूड पार्क में हाथ आजमाएंगे बाबा रामदेव

इनकी मदद करें तो देश व प्रदेश, दोनों का कल्याण हो जाएगा. मोदी के सपनों का भारत बन जाएगा और योगी के सपनों का रामराज स्थापित हो जाएगा.’ रामदेव ने सलाह देते हुए कहा, ‘हम सभी को मिलकर पुरुषार्थ करना चाहिए. संकल्प लें कि आप स्वयं एक व्यक्ति न होकर सम्पूर्ण राष्ट्र की अभिव्यक्ति हैं. यदि हम रामराज्य की कल्पना साकार होते हुए देखना चाहते हैं तो एकजुट हो प्रयास करें. ऐसा करने पर शिक्षा, स्वास्थ्य, समाज और जीवन के सभी क्षेत्रों में प्रगति होगी. राष्ट्र आगे बढ़ेगा.’

उन्होंने मोदी को भी सलाह दी, ‘यदि देश को आर्थिक महाशक्ति के रूप में देखना चाहते हैं तो आलोचनाओं की चिंता न करें. शुद्ध नीयत से सही नीति निर्माण करें. देश खुद पीछे-पीछे चलने लगेगा.’ उन्होंने कहा, ‘अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष, विश्व बैंक तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन जैसे विश्व की तमाम अग्रणी संस्थाएं अमेरिका में ही हैं.

हमें भी कुछ ऐसा करना चाहिए कि अगले कुछ वर्षों में डब्ल्यूएचओ का मुख्यालय हिन्दुस्तान में स्थापित हो जाए. लेकिन, अफसोस यह है कि हम बातें तो बहुत करते हैं लेकिन उन पर अमल नहीं करते.’ निकुंज वन में आयोजित मानसी ध्यान केंद्र के उद्घाटन अवसर पर संघप्रमुख मोहन भागवत ने भी कुछ उन्हीं के सुर में लोगों को पुरुषार्थ करने और मोदी-योगी को समर्थन देने की अपील की.उन्होंने कहा, ‘मोदी-योगी दोनों 18/18 घण्टे काम कर रहे हैं.

VIDEO : योग करने से किसी का मजहब नहीं बदलता : रामदेव

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उनका काम देश एवं प्रदेश के विकास की योजनाएं बनाना है. देशवासियों को भी कड़ी मेहनत करने का संकल्प लेना चाहिए.’ उन्होंने कहा, ‘संत आने वाले वर्षों में भारत के विश्व गुरू बनने की भविष्यवाणी कर रहे हैं. मुझे पूरा विश्वास है कि उनकी वाणी सफल होगी. भारत वास्तव में दुनिया का नेतृत्व करने के लिए तैयार हो रहा है. हमें भी वर्तमान परिस्थितियों से ऐसी अनुभूति हो रही है. लेकिन इसके लिए सभी दृढ़ संकल्प लेना होगा.’

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)