मोहसिन रजा बने योगी मंत्रिमंडल का मुस्लिम चेहरा, राजनाथ सिंह के बेटे को नहीं मिली जगह

मोहसिन रजा बने योगी मंत्रिमंडल का मुस्लिम चेहरा, राजनाथ सिंह के बेटे को नहीं मिली जगह

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले बीजेपी में शामिल हुए मोहसिन रजा पूर्व क्रिकेटर हैं.

खास बातें

  • बीजेपी+ के यूपी विधानसभा में 325 विधायक, एक भी मुसलमान नहीं.
  • बीजेपी ने किसी भी मुसलमान को नहीं दिया था चुनाव का टिकट.
  • उत्तर प्रदेश में 19 फीसदी मुसलमानों की आबादी.
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में बीजेपी को प्रचंड बहुमत मिलने के बाद योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है. योगी आदित्यनाथ के 44 सदस्यों वाले मंत्रिमंडल में मोहसिन रजा का नाम सभी का ध्यान खींचने वाला है. आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में मोहसिन को राज्यमंत्री बनाया गया है. योगी कैबिनेेट में गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह का नाम नहीं होना चौंकाने वाली बात है. पंकज सिंह को नोएडा से विधानसभा का टिकट मिलने के बाद से ही चर्चा चल पड़ी थी कि अगर बीजेपी सत्ता में आएगी तो वे मंत्री पद के प्रबल दावेदार होंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

यहां गौर करने वाली बात यह है कि 403 विधानसभा वाले उत्तर प्रदेश चुनाव में बीजेपी ने किसी भी मुसलमान को टिकट नहीं दिया था, जिसके चलते उन्हें विरोधियों के हमले भी झेलने पड़े थे. बीजेपी और उसके सहयोगी दलों के टिकट पर जीतकर आए 325 विधायकों में कोई भी मुसलमान नहीं है. इसके बाद भी योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में मोहसिन रजा को शामिल किए जाने की बात कही जा रही है.

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले बीजेपी में शामिल हुए मोहसिन रजा पूर्व क्रिकेटर हैं. बीजेपी ने उन्हें प्रवक्ता बनाया था, जिसके चलते वे अक्सर टीवी चैनलों पर बीजेपी का पक्ष रखते हुए देखे जाते रहे हैं. 

मोहसिन रजा पहली बार तब चर्चा में आए थे जब उन्होंने 2013 में बीजेपी के समर्थन में पोस्टर लगाया था। 40 वर्षीय मोहसिन रजा ने गवर्नमेंट जुबली इंटर कॉलेज से पढ़ाई की. इसके बाद उन्होंने लखनऊ यूनिवर्सिटी से उच्च शिक्षा हासिल किया. मंत्री पद संभालने के बाद मोहसिन रजा को छह महीने के अंदर विधानसभा या विधान परिषद की सदस्यता हासिल करनी होगी.

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश में करीब 19 फीसदी मुसलमानों की आबादी है. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com