NDTV Khabar

अखिलेश यादव के बयान से नाराज़ हो गए योगी आदित्‍यनाथ, कहा- 'भगवान उन्‍हें सद्बुद्धि दे'

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि यह एक खतरनाक प्रवृत्ति है और इस पर रोक लगनी ही चाहिए. भगवान उन्हें (अखिलेश) सद्बुद्धि दे.

849 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अखिलेश यादव के बयान से नाराज़ हो गए योगी आदित्‍यनाथ, कहा- 'भगवान उन्‍हें सद्बुद्धि दे'

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. योगी ने कहा, हर भारतवासी अखिलेश के बयान पर आपत्ति करेगा.
  2. योगी ने विधान परिषद में बजट पर सामान्य चर्चा का जवाब देते हुए यह बात कही.
  3. उन्होंने कहा कि यह एक खतरनाक प्रवृत्ति है और इस पर रोक लगनी ही चाहिए.
लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर चीन का 'महिमा मंडन' करने के मसले पर प्रतिक्रिया देते हुए शुक्रवार को कहा कि भगवान उन्हें सद्बुद्धि दे.

योगी ने विधान परिषद में बजट पर सामान्य चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि बजट पर चर्चा के दौरान बहुत सी ऐसी बातें भी सदन में कही गईं, जिन पर उन्हें लगता है कि हर भारतवासी आपत्ति करेगा. उन्होंने अखिलेश की तरफ इशारा करते हुए कहा, 'खासतौर पर पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा एक दुश्मन देश का महिमामंडन करने का जो कुत्सित प्रयास किया गया है, मुझे उस पर बहुत आपत्ति भी है और अफसोस भी'. मुख्यमंत्री ने कहा कि इस प्रकार के गैर जिम्मेदाराना वक्तव्य देने वाले नेताओं के बारे में सरदार पटेल की एक बात याद आती है. सरदार पटेल ने एक बार कहा था कि इस महान देश की स्वतंत्रता पर जब-जब संकट आए हैं, तब-तब बाहर के शत्रुओं से उतने नहीं जितने घर के मित्रों की तरफ से आए हैं.

उन्होंने कहा कि यह एक खतरनाक प्रवृत्ति है और इस पर रोक लगनी ही चाहिए. भगवान उन्हें (अखिलेश) सद्बुद्धि दे. मुख्यमंत्री के इस बयान के दौरान सदन में सपा, बसपा और कांग्रेस के सदस्य मौजूद नहीं थे.

ये भी पढ़ें...
योगी सरकार का बड़ा फैसला : अखिलेश राज में हुई सभी भर्तियों की होगी CBI जांच

योगी ने कहा कि विधानसभा से इस प्रकार के कुतर्कों और उनके कृत्यों के कारण प्रदेश की जनता ने सपा को सत्ता से बाहर करने का फैसला किया है. हम प्रार्थना करेंगे कि जल्द ही इस प्रकार की स्थितियां उच्च सदन में भी पैदा होंगी कि उन्हें स्वयं ही सदन को छोड़कर भागना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें...
यूपी में योगी सरकार को अखिलेश की योजनाएं लगती हैं फिजूलखर्ची

उन्होंने कहा कि 'आश्चर्य होता है कि अखिलेश ने अपने पिता मुलायम सिंह यादव के बारे में भी प्रश्न उठाए. मुझे लगता है कि मुलायम सिंह जी तो अखिलेश यादव के भाग्य विधाता हैं. उन्होंने ही उन्हें सांसद बनाया होगा. उन्होंने ही उन्हें मुख्यमंत्री भी बनाया है और आज वह उनकी ही कार्यपद्धति पर प्रश्न उठा रहे हैं'.



मालूम हो कि अखिलेश ने गत बुधवार को बजट पर सामान्य चर्चा के दौरान चीन का जिक्र करते हुए कहा था, 'हम तो जानते हैं कि लड़ाई उसी से करो, जिससे जीत जाओ. चीन से थोड़ा संभल करके. कहते हैं कि भारत वर्ष 1962 वाला भारत नहीं है. यह क्यों नहीं जानते कि चीन वह नहीं है जो 1962 में था. वहां पर जो तरक्की और मूलभूत ढांचे की चीजें हैं, हम उसके पास नहीं पहुंच सकते'.

(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement