NDTV Khabar

योगी आदित्यनाथ बोले- बीजेपी के सत्ता में आने के बाद एक भी दंगा नहीं हुआ, कानून व्यवस्था पटरी पर लौटी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भाजपा नेतृत्व वाली सरकार ने प्रदेश के बारे में लोगों की अवधारणा को बदला है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली :

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार के दो साल पूरे होने के उपलक्ष्य में मंगलवार को आयोजित एक प्रेस वार्ता में कहा कि भाजपा नेतृत्व वाली सरकार ने प्रदेश के बारे में लोगों की अवधारणा को बदला है. मुख्यमंत्री ने प्रदेश की 23 करोड़ जनता को धन्यवाद देते हुये कहा कि भाजपा के सत्ता में आने के बाद प्रदेश में एक भी दंगा नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि 1990 के बाद सपा को चार बार और बीएसपी को तीन बार प्रदेश का कामकाज चलाने का मौका मिला. सात बार के सपा-बसपा के शासन काल में प्रदेश में व्यापक अराजकता का एक दौर शुरू हो गया था. योगी ने कहा कि कांग्रेस ने यूपी को बीमारू राज्य बना दिया था. योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश सरकार की ही नहीं केंद्र सरकार की योजनाओं को भी सराहा. योगी ने जन-धन योजना, उज्‍ज्‍वला योजना और किसान सम्मान योजना की भी उपलब्धियां गिनाई.

राम मंदिर पर योगी आदित्यनाथ बोले, रामजन्मभूमि का दावा कभी नहीं छोड़ेंगे हिंदू


टिप्पणियां

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले 24 महीने में काननू व्यवस्था पटरी पर लौटी, 3300 से ज्यादा मुठभेड़ें हुईं, 12000 अपराधियों ने आत्मसमर्पण किया, 70 से अधिक कुख्यात अपराधी मारे गये. आज यूपी में निवेश का बेहतर माहौल बना जिसके कारण पिछले दो साल में पिछले 10 साल से ज्यादा निवेश हुआ. उन्होंने कहा ,‘‘हमारी सरकार में बिचौलियों पर लगाम कसी गयी, किसानों की कर्ज माफी का कार्यक्रम सफलता से पूरा किया, किसानों को अब न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलने लगा है, किसानों को अब लागत से डेढ़ गुना ज्यादा दाम मिल रहा है, हर किसान का औसतन 60 हजार का कर्ज माफ हुआ है. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि से भी प्रधानमंत्री ने किसानों का सम्मान करने का काम किया है. इससे किसानों का जीवन स्तर बढ़ेगा. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सुरक्षा को लेकर अब देश में एक नजीर बन गया है, पिछले 24 महीने में काननू व्यवस्था नजीर बनी और पटरी पर लौटी. (इनपुट-भाषा से भी)

CM योगी आदित्यनाथ ने POK का लिया नाम तो सपा प्रवक्ता बोले-इन्हें पता ही नहीं एयर स्ट्राइक कहां हुई?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement